पूर्वांचल एक्सप्रेसवे : यूपी के सबसे लम्बे एक्सप्रेसवे का पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन, जानें इससे जुड़ी कुछ खास बातें…

उत्तर प्रदेश 2022 विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार यूपी को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात देने जा रही है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के लिए 16 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूपी आ रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी भी मौजूद रहेगें। इस दौरान वायूसेना द्वारा विमानों का एयरशो भी किया जाएगा। जिसे लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई है। आपको बता दें एयरफोर्स के फाइटर एयरक्राफ्ट सुखोई, जगुआर और मिराज इस फ्लाईपास्ट का हिस्सा होंगे।

आइयें जानते है पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जूड़ी कुछ खास बातें…

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे 340.8 किमी लंबा उत्तर प्रदेश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे है, जिसमें 6 लेन होंगी। यह एक्सप्रेसवे लखनऊ से शुरू होकर पूर्वी यूपी के गाजीपुर मे खत्म होगा।यह एक्सप्रेसवे राज्य की राजधानी लखनऊ को मऊ, आजमगढ़, बाराबंकी सहित पूर्वी जिलों से प्रयागराज और वाराणसी के प्रमुख शहरों से जोड़ेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को सुल्तानपुर में उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेते हुए कहा था कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वी यूपी की अर्थव्यवस्था की रीढ़ बनेगा। प्रधानमंत्री ने जुलाई 2018 को इस एक्सप्रेस-वे की नींव रखी थी।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से उत्तर प्रदेश के लोगो को यात्रा करने में काफी सहुलियत मिलेगी। यह एक्सप्रेसवे सुल्तानपुर के चंदसराय गांव से निकलेगा। यह बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, फैजाबाद, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ से होकर गुजरेगी और गाजीपुर जिले के हलदरिया गांव में समाप्त होगी।

साल 2018 में शुरू हुए पूर्वांचल एक्सप्रेसवे में लगी कुल लागत 22,494 करोड़ रुपये है जिसमें अधिग्रहित जमीन के लिए दिया गया मुआवजा भी शामिल है। रूटमैप की बात करें तो यह एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के 9 जिलों लखनऊ, बाराबंकी, फैजाबाद, अंबेडकर नगर, अमेठी, सुल्तानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से निकलेगा। अभी यह एक्सप्रेसवे छह लेन का है जिसे आठ लेन तक बढ़ाया जा सकता है। इस एक्सप्रेसवे के आने के बाद 300 किमी लम्बी यात्रा केवल साढ़े तीन घंटे में पूरी की जा सकेगी।

यूपी विधानसभा चुनाव करीब है, जिसमें योगी सरकार पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को अपनी उपल्बधी के तौर पर पेश करेगी। इस एक्सप्रेसवे के बनने से राज्य के पूर्वांचल का राजधानी लखनऊ से सड़क संपर्क बेहतर हो जाएगा।

सुल्तानपुर जिले में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर तीन किमी लंबा रनवे बनाया गया है इस रनवे पर लड़ाकू जहाज तक उतर सकते हैं। IAF के मिराज 2000 और Su-30MKI विमान आपातकालीन हवाई पट्टी पर कई टेकऑफ़ और लैंडिंग करेंगे। सुल्तानपुर जिले के कुरेभर गांव के पास बने रनवे पर उतरेंगे, तो कुछ टच-एंड-गो ऑपरेशन में हिस्सा लेंगे।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV