दीपोत्सव से पहले सीएम योगी के अयोध्या दौरे की यह है खास वजह

इस वर्ष, आदित्यनाथ ने घोषणा की है कि केंद्र और राज्य सरकार की आवास योजनाओं के अनुमानित नौ लाख लाभार्थियों के लिए एक-एक मिट्टी का दीपक अयोध्या जलाए जाएंगे। इस तरह से 1 नवंबर से शुरू होकर 5 नवंबर को समाप्त होने वाले इस वृहद् दीपोत्सव कार्यक्रम में कुल नौ लाख मिट्टी के दिये जलाये जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर अफगानिस्तान की एक लड़की द्वारा भेजे गए काबुल नदी के पानी से ‘जल अभिषेक’ किया। आदित्यनाथ ने कहा कि पानी को गंगाजल में मिलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर राम मंदिर निर्माण स्थल पर अर्पित किया गया है।

इससे पहले लखनऊ स्थित सीएम आवास पर एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन हुआ था। जिसको यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्बोधित किया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि वो 2021 के भव्य दीपोत्सव समारोह की तैयारियों की समीक्षा के लिए अयोध्या जाएंगे। उनके अयोध्या जाने का पहला उद्देश्य श्री राम जन्मभूमि पर काबुल नदी का जल अर्पित करना है। श्री राम जन्मभूमि को अर्पित किया जाने वाला यह जल अफगानिस्तान रहने वाली एक लड़की द्वारा भेजा गया है।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सीएम योगी ने कहा कि अफगानिस्तान की एक लड़की ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए काबुल नदी का जल भेजा है वो चाहती हैं कि इसे प्रधानमंत्री मोदी को अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि को अर्पित करें। उन्होंने आगे कहा, “मैं इस दीपोत्सव कार्यक्रम में उस भावना को जोड़ने के लिए विशेष रूप से वहां जा रहा हूं।”

Koo App
#Lucknow ➡काबुल नदी के जल से रामलला का जलाभिषेक होगा ➡अफगानिस्तान की काबुल नदी का आया लखनऊ ➡काबुल नदी के जल से रामलला का जलाभिषेक होगा ➡अफगानिस्तान से एक लड़की ने भेजा काबुल का जल ➡गंगाजल और काबुल नदी के पानी से होगा जलाभिषेक ➡मुख्यमंत्री आवास पहुंच चुका है काबुल नदी का जल ➡3 नवंबर को किया जाएगा रामलला का जलाभिषेक
भारत समाचार (@bharatsamachar) 31 Oct 2021

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि वह उन सभी भावनाओं को श्री राम जन्मभूमि पर समर्पित करने के लिए अयोध्या जाएंगे, जिन्होंने अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी के बावजूद भी भारत और इसके पवित्र मंदिरों के प्रति अपना सम्मान और भक्ति बनाए रखा है। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह बड़े गर्व की बात है कि राम मंदिर का निर्माण अतीत की बेड़ियों को हटाकर निरंतर चल रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − one =

Back to top button
Live TV