अडानी समूह की Eco-Friendly पहल : सरदार वल्लभभाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 1 साल में लगाए 2,000 से अधिक पेड़

अडानी ग्रुप का मानना है कि नागरिक उड्डयन क्षेत्र में कार्बन उत्सर्जन के लिए न केवल हवाई जहाज, बल्कि हवाई अड्डे भी जिम्मेदार होते हैं। ऐसे में हरित आवरण को जोड़ने और कार्बन फुटप्रिंट को कम करने के लिए, SVPIA के परिसर में लगभग 2000 वर्ग मीटर झाड़ी क्षेत्र और 1200 वर्ग मीटर हरित कवर जोड़ा गया है।

मंगलवार को अडानी ग्रुप द्वारा जारी की गई प्रेस रिलीज के मुताबिक, अहमदाबाद स्थित सरदार वल्लभभाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (SVPIA ) पर 1 साल के अंदर 20 विभिन्न प्रजातियों के 2,000 से अधिक पेड़ लगाए हैं। अडानी ग्रुप द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक ग्रीन कवर बढ़ाने के वैश्विक नजरिये के अनुरूप, SVPIA अपनी वर्तमान पहल के तहत हवाई अड्डे पर निजीकरण से लगभग एक साल पहले 6000 पेड़ थे लेकिन 1 साल के अंदर पेड़ों की संख्या में 20 विभिन्न प्रजातियों के 2000 अतिरिक्त पेड़ लगाए गए हैं और अब हवाई अड्डों पर पेड़ों की कुल संख्या 8000 हो गई है।

अडानी ग्रुप का मानना है कि नागरिक उड्डयन क्षेत्र में कार्बन उत्सर्जन के लिए न केवल हवाई जहाज, बल्कि हवाई अड्डे भी जिम्मेदार होते हैं। ऐसे में हरित आवरण को जोड़ने और कार्बन फुटप्रिंट को कम करने के लिए, SVPIA के परिसर में लगभग 2000 वर्ग मीटर झाड़ी क्षेत्र और 1200 वर्ग मीटर हरित कवर जोड़ा गया है। अडानी ग्रुप के इस पहल का मकसद हवाई अड्डों के टर्मिनलों के अंदर और बाहर हरियाली बढ़ाना है। इसी लिहाज से यह वृक्षारोपण कार्यक्रम के जरिये समूह अपने हवाईअड्डों को ग्रीन कवर से जोड़ने में जूटा हुआ है।

अडानी समूह ने यह भी जानकारी दी कि हवाई अड्डों के हरित भविष्य के लिए विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से बेहतर सतत विकास के लक्ष्य के करीब पहुंच रही है। प्रेस रिलीज में दी गई जानकारी के अनुसार, समूह का मानना है कि यह पहल न केवल SVPIA में हरियाली बढ़ाने, झाड़ियों और पेड़ लगाने का मामला है, बल्कि इससे पर्यावरण मानकों और नियंत्रणों के कार्यान्वयन करने, हरित बुनियादी ढांचे का निर्माण करने, ध्वनि प्रदूषण को कम करने, स्थायी सर्वोत्तम प्रथाओं को अपनाने, ईंधन दक्षता विकसित करने, ऊर्जा एवं पानी के साथ व्यवस्थित पुनर्चक्रण से संबंधित संसाधन संरक्षण नीति को नियोजित करने सहित सभी स्तरों पर टिकाऊ प्रथाओं को सुनिश्चित करने का एक वैश्विक दृष्टिकोण भी है।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV