वर्चुअल सुनवाई फैसले के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ताओं ने खोला मोर्चा, बोले – ‘नहीं कर पा रहे बहस?’

अधिवक्ताओं ने अपने विरोध करने का कारण बताया कि मामलों की आनलाइन सुनवाई करने में नेटवर्क कनेक्शन की बड़ी समस्या आ रही है जिससे वे बहस नहीं कर पा रहे हैैं। उन्होंने ऑफलाइन सुनवाई कराने की अपनी मांग को मुख्य न्‍यायाधीश (CJ) के सामने रखा।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश के कई न्यायालयों ने मामलों की वर्चुअल सुनवाई करने का फैसला लिया। इस लिहाज से जब आज इलाहबाद उच्च न्यायालय में वर्चुअल सुनवाई चल रही थी तब हाई कोर्ट के कुछ अधिवक्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। मामला तब और भी बढ़ गया जब इलाहबाद हाईकोर्ट के वर्चुअल सुनवाई के फैसले का विरोध करते हुए सभी अधिवक्ता मुख्य न्यायाधीश के चैैंबर तक पहुंचे।

वर्चुअल सुनवाई के फैसले का विरोध कर रहे अधिवक्ता नारेबाजी करते हुए मुख्य न्यायाधीश के कार्यालय पहुंचे लेकिन उन्हें वहां अनुपस्थित पाकर आक्रोशित हो गए। सभी अधिवक्ताओं ने इस दौरान हाई कोर्ट परिसर में स्थित मुख्य न्यायाधीश के कार्यालय का घेराव किया। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रदर्शन कर रहे अधिवक्ताओं को मुख्य न्‍यायाधीश (CJ) ने आगे से मामलों की आफलाइन सुनवाई करने का आश्वासन दिया, फिर अधिवक्ताओं का रोष शांत हुआ।

बता दें कि अधिवक्ताओं ने अपने विरोध करने का कारण बताया कि मामलों की आनलाइन सुनवाई करने में नेटवर्क कनेक्शन की बड़ी समस्या आ रही है जिससे वे बहस नहीं कर पा रहे हैैं। उन्होंने ऑफलाइन सुनवाई कराने की अपनी मांग को मुख्य न्‍यायाधीश (CJ) के सामने रखा तो उन्होंने आश्वस्त किया कि मंगलवार से हाईकोर्ट में वर्चुअल और फिजिकल बहस दोनों होंगे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा जब कोरोना के मामले बढ़ेंगे तो फिर इसे लेकर फैसला लिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
Live TV