अंबेडकरनगरः लापता व्यवसायी के पुत्र का तमसा नदी में मिला शव, आक्रोशित भीड़ ने जाम किया हाईवे

अंबेडकरनगर. 11 नवंबर से लापता व्यवसायी पुत्र का शव रविवार को बोरे में बंद तमसा नदी से बरामद हुई। शव मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। आक्रोशित परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस ने मामले में चार लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्जकर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला अकबपुर कोतवाली क्षेत्र के शहजादपुर लोहामंडी का है। जहां पर व्यवसायी पुत्र शिवा कसौधन 11 नवंबर की देर रात अपने दोस्तों के साथ नगर के एक होटल में गया था। सुबह तक जब शिवा घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की लेकिन शिवा का कहीं भी पता नही चला।

अंबेडकरनगर. 11 नवंबर से लापता व्यवसायी पुत्र का शव रविवार को बोरे में बंद तमसा नदी से बरामद हुई। शव मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। आक्रोशित परिजनों ने शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस ने मामले में चार लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्जकर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मामला अकबपुर कोतवाली क्षेत्र के शहजादपुर लोहामंडी का है। जहां पर व्यवसायी पुत्र शिवा कसौधन 11 नवंबर की देर रात अपने दोस्तों के साथ नगर के एक होटल में गया था। सुबह तक जब शिवा घर नहीं पहुंचा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की लेकिन शिवा का कहीं भी पता नही चला।

जिसके बाद परिजनों ने अकबरपुर कोतवाली में एक नामजद तहरीर दी पुलिस ने गुमसुदगी दर्जकर मामले की जांच में जुट गई लेकिन शिवा को खोजने में असफल रही। इसी बीच 14 नवम्बर को जिला मुख्यालय पर स्थित तमसा नदी किनारे एक बोरा दिखा। मौके से पहुंचे परिजनों ने जब बोरे को खोला तो परिजनों के होश उड़ गए। बंद बोरे में कोई और नही बल्कि व्यवसायी पुत्र शिवा कसौधन की लाश थी। शिवा के चेहरे और शरीर पर कई जगह धारदार हथियार के निशान थे शिवा की बड़ी ही बेरहमी से हत्या की गई थी।

परिजनों के साथ आक्रोशित भीड़ ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। मौके से पहुंची पुलिस ने समझा बुझाकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। लेकिन परिजनों और व्यपारियों का आक्रोश कम नही हुआ। भीड़ ने अकबरपुर पुरानी तहसील तिराहे पर पहुंचकर शहर के सभी रास्तों को बंद कर जाम लगा दिया। जिससे आजमगढ़, अयोध्या, जौनपुर समेत अन्य मार्गों पर आवागन बन्द हो गया। और मौके से भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया।

परिजन मामले में कड़ी कार्यवाही की जिद पर अड़े रहे है। हालांकि काफी जद्दोजहद के बाद पुलिस ने हत्या में शामिल सभी आरोपियों पर हत्या समेत कई गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वही परिजनों ने पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगाया है। परिजनों के मुताबिक मृतक ने अपने दोस्तों को कर्ज के तौर पर मोटी रकम दे रखी थी। हत्या की वजह पैसा ही माना जा रहा है।

Related Articles

Back to top button
Live TV