विवादित बयान के बीच स्वामी प्रसाद मौर्य का मंदिर पर ट्वीट- न कभी गया न कभी जाऊंगा इस मंदिर

लखनऊ में पकापुल के पास मंदिर में स्वामी प्रसाद मौर्या के प्रवेश पर प्रतिबंध के पोस्टर लगा कर विरोध किया गया था जिस पर जवाब देते हुए स्वामी प्रसाद मौर्या ने ट्वीट किया है।

स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान को लेकर सियासत जोरों पर है। इसी बीच स्वामी प्रसाद मौर्या का एक और ट्वीट आ गया है। लखनऊ में पकापुल के पास मंदिर में स्वामी प्रसाद मौर्या के प्रवेश पर प्रतिबंध के पोस्टर लगा कर विरोध किया गया था जिस पर जवाब देते हुए स्वामी प्रसाद मौर्या ने ट्वीट किया है।

आपको बतांं दे कि रामचरितमानस पर मौर्या की आपत्तिजनक टिपण्णी को लेकर देशभर में उनका विरोध दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। रामचरितमानस पर मौर्या की आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर हिंदूवादी संगठन विरोध जाहिर कर रहे हैं। इसी क्रम में राजधानी लखनऊ के लेटे हनुमान जी के मंदिर में स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष डॉ विवेक तांगड़ी ने पोस्टरे लगाकर विरोध किया था। पोस्टर में लिखा है कि स्वामी प्रसाद मौर्य का मंदिर में प्रवेश वर्जित है।

लखनऊ में मंदिर पर अपने खिलाफ लगाए गए पोस्टर पर स्वामी प्रसाद मौर्या ने ट्वीट करते हुए कहा कि “लखनऊ, पकापुल के पास लेटे हुए हनुमान मंदिर में पुजारियों द्वारा प्रतिबंध हास्यास्पद है, अपने पूरे जीवन में इस मंदिर में न कभी गया था न कभी जाऊंगा। जहां भेदभाव हो वहां जाने की जरूरत क्यों।”

रामचरित मानस पर विवादित बयान को लेकर स्वामी प्रसाद मौर्या के खिलाफ राजधानी लखनऊ में शिकायत भी दर्ज कराई गई थी। इसी कड़ी में शिकायत के आधार पर राजधानी लखनऊ की हजरतगंज पुलिस ने आईपीसी की धारा 295A, 298, 504, 505(2),153A में एफआईआर दर्ज हुई कर लिया है। पुलिस ने यह FIR एक शिकायत प्राप्त होने के आधार पर की है। पंजीकृत मामले में कहा गया है कि सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या का बयान समाज को जाति और धर्मों में विभाजित करने वाला है।

Related Articles

Back to top button
Live TV