बागपत: ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर सड़क हादसों, खड़े कैंटर से टकराई कार, ठेकेदार की मौत, साथी घायल

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर बड़ागांव के पास किनारे पर पंक्चर खड़े कैंटर से कार टकराई गई। सड़क हादसे में कार सवार मेरठ जिला निवासी के ठेकेदार की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि उसके साथी हो गए।

विपिन सोलंक

बागपत: ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर सड़क हादसों से मौतों का सिलसिला थमने का नाम ही नही ले रहा हैं। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे लगातर पर सड़क हादसे हो रहे हैं। बड़ागांव के पास किनारे पर पंक्चर खड़े कैंटर से कार टकराई गई। सड़क हादसे में कार सवार मेरठ जिला निवासी के ठेकेदार की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि उसके साथी घायल हो गए।

मेरठ के सरधना क्रिस्चन कालोनी निवासी मार्क गिलबर्ट पुत्र जी. गिलबर्ट एफ. मसीह हाल में नोएडा सुपरटेक में रहते थे। वहां बिल्डिंग निर्माण के ठेकेदार थे। शुक्रवार सुबह मार्क गिलबर्ट साथी राहुल पुत्र सुरेश निवासी नोएडा संग स्विफ्ट से मिटिंग में चंडीगढ़ जा रहे थे। सुबह छह बजे ईपीई पर कार बड़ागांव के पास किनारे पंक्चर खड़े लकड़ी से लदे कैंटर से टकरा गई। दुर्घटना में मार्क गिलबर्ट की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, जबकि साथी राहुल घायल हो गए। सूचना मिलने पर मौके पर पहुँची खेकड़ा कोतवाली पुलिस ने म्रतक के शव को कब्ज़े में लेकर मोर्चरी भेजा, घायल राहुल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां घायल का उपचार चल रहा हैं। हादसे का पता लगने पर परिजन मौके पर पहुंचे। परिजनों ने कैंटर चालक पर कार्रवाई की मांग की। इंस्पेक्टर डीके त्यागी का कहना है कि जांचकर कार्रवाई की जाएगी।

ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे पर किनारे खड़े होने वाले वाहनों के कारण आए दिन दुर्घटनाएं होती है। दुर्घटनाओं में अधिकांश वाहन सवार लोगों की जान जा रही है। किनारे पर कहीं भी वाहन रोकना प्रतिबंधित है लेकिन पुलिस प्रशासनिक अधिकारी इस तरफ ध्यान नहीं दे रहे है और न ही एनएचएआइ। आखिर कब तक अधिकारियों की लापरवाही राहगीरों की जान लेती रहेगी। अब तक किनारे खड़े वाहनों के कारण सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है।

Related Articles

Back to top button