बांदा : 9 दिन से लापता युवती का शव मिलने से हड़कंप, पुलिस जाँच पड़ताल म जुटी…

बांदा : बांदा के गिरवा थाना क्षेत्र सहेवा गांव में गुमशुदगी के बाद युवती की हत्या से हड़कंप मच गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है, आपको बता दें 9 दिन पहले युवती वंदना अचानक अपने घर से खेत जाते समय लापता हो गई थी। परिजनों ने थाने में युवती की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

उत्तर प्रदेश के बांदा में गुमशुदगी के बाद हत्याओं का सिलसिला लगातार जारी है। बाँदा मे बहुचर्चित अमन त्रिपाठी हत्याकांड का मामला ठंडा नहीं हुआ था कि वहीं एक और गुमशुदगी के बाद हत्या का मामला सामने आने से पुलिस के हाथ पांव फूल गए है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पूरे मामले को संज्ञान में लेते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और पूरे मामले की पड़ताल में जुट गयी है।

आपको बता दें पूरा मामला बांदा जनपद के गिरवा थाना अंतर्गत खुरहंड चौकी क्षेत्र के सहेवा गांव का है जहां की रहने वाली वंदना 9 दिन पहले अचानक अपने घर से खेत जाते समय लापता हो गई जिसके बाद उसके परिजनों के द्वारा संबंधित थाने में जाकर युवती की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई युवती की गुमशुदगी दर्ज होने के बाद भी पुलिस के द्वारा ऐसी कोई कार्यवाही या छानबीन नहीं की गई जिससे समय रहते युवती की जिंदगी बचाई जा सके पुलिस की कार गुजारी की वजह से उस युवती की हत्या कर दी गई हत्या की सूचना गुमशुदगी के 6 दिन बाद पुलिस ने युवती के परिजनों को दी।

परिजनों ने मौके पर पहुंचकर शव को देखते हुए अपनी बेटी बंदना के नाम पर उसकी शिनाख्त की जिसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा करते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक वंदना के पिता का कहना है कि 9 दिन पहले हम लोग रोज की भांति खेतों में काम करने के लिए घर से निकल गए थे दोपहर के समय हमारी छोटी बेटी बंदना अपनी बड़ी बहन से खेत में जाने को कह कर घर से निकल गई थी और जब हम लोग शाम को खेत से घर वापस लौटे तो पूछा कि बंदना कहां है तो बड़ी बेटी ने बताया कि बंदना घर से खेत के लिए बोल कर निकली थी तब से पिता की परेशानी और चिंताएं बढ़ गई पूरी रात पिता के द्वारा अपने गांव वह आसपास के क्षेत्रों में अपनी बेटी की तलाश शुरू की गई न मिलने पर पीड़ित पिता के द्वारा स्थानीय थाने में पहुंचकर मामले की सूचना दर्ज कराई गई।

सूचना दर्ज कराने के बाद भी वंदना के पिता शांत बैठे रहे और अपनी बेटी की तलाश लगातार करता रहा और 6 दिन बाद अचानक गांव के प्रधान के द्वारा यह बताया गया कि पास में ही एक युवती का शव खेत में पड़ा मिला है इसके बाद परिजनों ने जाकर देखा तो वह उनकी ही बेटी थी। उसका चेहरा काला पड़ चुका था और उसके हाथ में उसके भाई का नाम लिखा था जिसे पूरी तरह से जला दिया गया था उसकी पहचान हम लोगों ने उसके कपड़ों और चप्पलों से की थी।

वहीं दूसरी तरफ पूरे मामले की जानकारी देते हुए क्षेत्राधिकारी नरैनी नितिन कुमार ने बताया कि गिरवां थाना क्षेत्र के खेत में एक महिला का शव मिला है जिस पर थाना प्रभारी व मेरे द्वारा मौके पर पहुच कर शव के पास पड़े कागजों से उसके पते के बारे में जानकारी करते हुए संबंधित गांव के प्रधान को अवगत करा कर मृतक के परिजनों को सूचना दी गई सूचना पर पहुंचे परिजनों ने मृतिका के कपड़ों और चप्पलों को देखकर उसकी शिनाख्त अपनी बेटी के रूप में की गई मामले को देखते हुए सर्वप्रथम 302 मैं मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है धाराओं में मामले को दर्ज करने को लेकर जांच की जा रही है जैसे ही अन्य मामले जांच में सामने निकल कर आएंगे उसी आधार पर मुकदमे की धाराएं बढ़ा दी जाएंगी।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 − 18 =

Back to top button
Live TV