महंगाई की मार : आम आदमी की जेब पर पड़ेगा असर, फिर बढ़ी थोक महंगाई, जानें क्या है नए आकड़ें…

महंगाई आम आदमी के जीवन में एक सामान्य सा शब्द हो गया है जिसकी मार वह रोज खा रहा है। लगातार बढ़ रही महंगाई ने आम आदमी की जेब पर भारी असर पड़ रहा है। खुदरा महंगाई में इजाफे के साथ-साथ थोक महंगाई भी देश में करीब दो फीसदी बढ़ गई है। अक्तूबर के थोक मूल्य आधारित मुद्रास्फीति के जारी आंकड़े में साफ रूप से दिख रहा है। सरकार की ओर से जारी किए गए डेटा के अनुसार, देश में थोक महंगाई सितंबर की तुलना में बढ़कर 12.54 प्रतिशत पर पहुंच गई है। गौरतलब है कि सितंबर में थोक मुद्रास्फीति 10.66 प्रतिशत थी।

आपको बता दें कि थोक महंगाई लगातार दोहरे अंक पर बनी हुई है। देश में अक्टूबर से थोक महंगाई की दर 12.54 फीसदी तक पहुंच गई है। सितंबर में यह दर 10.66 फीसदी थी। थोक महंगाई में ईंधन और बिजली की कीमतों में तेज़ी के कारण बढ़ोतरी दर्ज की गई है। जिसके कारण मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की कीमतों में लंबा उछाल आया हैं।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, अक्तूबर में थोक महंगाई बीते पांच महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गई है। ईंधन और बिजली की कीमतों में बेतहाशा तेजी के कारण थोक महंगाई में इजाफा हुआ है। 12 नवंबर को रिटेल महंगाई दर के आंकड़े जारी हुए थे। सितंबर महीने के मुकाबले अक्टूबर में रिटेल महंगाई दर 4.35 फीसदी से बढ़कर 4.48 फीसदी पहुंच गई थी हालांकि, यह आंकड़ा RBI के महंगाई दर अनुमान 2-6 फीसदी के अंदर ही आता है।

Related Articles

Back to top button
Live TV