दिल्ली: 100 से अधिक मानसिक दिव्यांगता वाले स्पेशल बच्चों की आर्ट एवं क्राफ्ट कार्यशाला सफलतापूर्वक संपन्न, डॉ0 मल्लिका नड्डा बतौर अध्यक्ष हुईं शामिल

इंटरनेशनल डे फॉर पर्सन विद डिसेबिलिटी के उपलक्ष्य में स्पेशल ओलंपिक और सीटीजन फॉर वेलफेयर स्टेट के संयुक्त तत्वाधान और एनजीएमए के सहयोग से रविवार को 100 से अधिक मानसिक दिव्यांगता वाले स्पेशल बच्चों की आर्ट एवं क्राफ्ट कार्यशाला सफलतापूर्वक संपन्न हुई।

नई दिल्ली. इंटरनेशनल डे फॉर पर्सन विद डिसेबिलिटी के उपलक्ष्य में स्पेशल ओलंपिक और सीटीजन फॉर वेलफेयर स्टेट के संयुक्त तत्वाधान और एनजीएमए के सहयोग से रविवार को 100 से अधिक मानसिक दिव्यांगता वाले स्पेशल बच्चों की आर्ट एवं क्राफ्ट कार्यशाला सफलतापूर्वक संपन्न हुई। इस कार्यशाला में डॉक्टर मल्लिका नड्डा कार्यक्रम में बतौर अध्यक्ष शामिल हुई। मुख्य अतिथि के रूप में कौशल किशोर का साहचर्य प्राप्त हुआ। कार्यक्रम के संयोजक मुकेश शुक्ला थे। कार्यक्रम में पंजाब नेशनल बैंक श्री और एनजीएम की निदेशिका भी मौजूद थी।

मुख्य अतिथि केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि स्पेशल ओलंपिक भारत और उत्तर प्रदेश का यह प्रयास बहुत सराहनीय है। समाज को स्पेशल बच्चों के सहयोग के लिए कदम से कदम मिलाकर चलना होगा। कार्यक्रम की अध्यक्ष डॉक्टर मल्लिका नड्डा ने कहा कि स्पेशल ओलंपिक हमारे मानसिकत दिव्यांगता वाले बच्चों केलिए केवल खेल में ही नहीं बल्कि अन्य क्षेत्रों में भी प्रयास कर रहा है। अन्य आयामों में भी कार्य करके बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। बच्चों के विकास के लिए जिस भी तरह के प्रयास करने होंगे वो किए जाएंगे।

स्पेशल ओलंपिक उत्तर प्रदेश के नव निर्वाचित अध्यक्ष मुकेश शुक्ला ने कहा बच्चे धरती पर भगवान का रुप हैं। यह मोह लोभ कुंठाओं से परे सामाजिक जीवन का आनंद लेते हैं। अतः हम सबको इनकी सेवा के पवित्र काम में लगना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि इस कार्यशाला को अनंत काल तक करते रहने का संकल्प हम करते हैं।

पीएनबी के कार्यकारी निदेशक कल्याण कुमार ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के समर्थन के लिए पीएनबी हमेशा तैयार है। भविष्य में भी पीएनबी अपने सामाजिक उत्तरदायित्व का निर्वहन करता रहेगा। और स्पेशल ओलंपिक की अन्य मुहीमों में भी सदैव साथ रहेगा।

नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट की निदेशिका तेमसुनाराव त्रिपाठी ने कहा कि हमारा कैंपस और संस्थान स्पेशल बच्चों के लिए हमेशा खुला है। हम इन बच्चों के विकास के लिए कटिबद्ध हैं। कार्यक्रम को समर्थन देने के लिए अनेक संस्थानों के उच्चाधिकारी, प्रशासनिक अधिकारी, केंद्रीय उपक्रमों के सदस्य तथा जनप्रतिनिधि मौजूद थे। साथ ही कार्यक्रम में 10 से अधिक राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित कलाकारों ने प्रतिभाग किया।

Related Articles

Back to top button
Live TV