इटावा: बाजारों में कालाबाजारी रोकने को खाद्य पदार्थों की दुकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी, दिए गये ये सख्त निर्देश

इटावा. इटावा में खाद्य पदार्थों की हो रही कालाबाजारी को रोकने के लिए एसडीएम और जिला विपरण अधिकारी ने छापा मारा। लेकिन छापा मार कार्यवाही में प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ कुछ नहीं लगा। अधिकारियों ने थोक व फुटकर दुकानदारों पर निरीक्षण किया। दुकानदारों के यहां से कुछ न मिलने पर अधिकारियों ने खाद्य सामग्री को स्टॉक में न रखने की चेतावनी दी। बाजार में आज कई जगह संबन्धित अधिकारियों ने कई दुकान व गोदामों पर चेकिंग की। वहीं दुकानदारो को कहा गया कि किसी प्रकार की दुकानदार जमाखोरी न करे वही मानक के अनुसार खाद्य वस्तुओं को रखकर उपभोक्ताओं को वितरित करें। ये बात खुद खाद्य विपरण अधिकारी ने मीडिया से कही है।

खाद्य तेलों में मूल्य वृद्धि को लेकर जिला अधिकारी श्रुति सिंह के निर्देशन पर कालाबाजारी रोकने के लिए थोक व फुटकर दुकानों के स्टाक की चेकिंग की गई व्यापारियों को चेतावनी दी गई कि खाद्य तेलों को स्टॉक कतई ना करें स्टाक सीमा से अधिक पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उप जिलाधिकारी सदर एन राम ने बताया कि जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी संतोष कुमार पटेल व दो अन्य अधिकारियों के साथ फार्म रंजीत कुमार सुनील कुमार, राजेंद्र कुमार एंड संस, बीआर आयल, मां कामाख्या देवी ट्रेडिंग कंपनी, शिवम ट्रेडिंग कंपनी के स्टाक की जांच की गई भल्ला की कालाबाजारी अथवा जमाखोरी नहीं मिली, व्यापारियों को निर्देशित किया गया कि किसी प्रकार की जमाखोरी ना की जाए अमिता कार्रवाई की जाएगी जिला विपणन अधिकारी संतोष कुमार पटेल ने बताया कि सरकार द्वारा खाद्य तेल तिलहन के स्टाफ की लिमिट निर्धारित कर दी गई है यह निर्णय 31 मार्च 2022 तक प्रभावी रहेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 1 =

Back to top button
Live TV