गाजियाबाद : पैसों के लेनदेन की मामूली कहासुनी पर दोस्त ने की दोस्त की हत्या, पत्नी भी साजिश में शामिल

जानकारी के मुताबिक कविनगर थाना क्षेत्र के रहने वाले कुशाग्र चौधरी 29 दिसंबर की शाम 6:00 बजे से लापता था। जिसकी कोई भी सुराग नही लग सका। इस संबंध में परिजनों ने पुलिस को सूचना दी आखिरी बार कुशाग्र को उसके दोस्त योगेंद्र के साथ देखा गया था।

रिपोर्ट – लोकेश राय

नशे की हालत में दोस्त के साथ पैसे के लेनदेन को लेकर हुए विवाद में दोस्त ने ही दोस्त की हत्या कर दी। दरअसल 2 दिन पहले कविनगर थाना क्षेत्र से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुए शख्स का शव कुएं में मिला था।उसके सिर पर रॉड मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या करने वाले आरोपी दंपत्ति की निशानदेही पर शव को पुलिस ने कुएं से बरामद किया। जानकारी के मुताबिक कविनगर थाना क्षेत्र के रहने वाले कुशाग्र चौधरी 29 दिसंबर की शाम 6:00 बजे से लापता था। जिसकी कोई भी सुराग नही लग सका। इस संबंध में परिजनों ने पुलिस को सूचना दी आखिरी बार कुशाग्र को उसके दोस्त योगेंद्र के साथ देखा गया था जिस पर पुलिस ने योगेंद्र से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने इस पूरे हत्याकांड की बात कबूली है।

जिस दोस्त की जमानत करवाई उसी ने हत्या कर दी

मृतक कुशाग्र और आरोपी योगेंद्र दोनों दोस्त थे और दोनों ही नशे के आदि भी थे। कुशाग्र को तकरीबन डेढ़ साल पहले देहरादून में ड्रग्स के मामले में गिरफ्तार किया गया था। वही हाल ही में योगेंद्र को भी एक लूट के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। योगेंद्र के जेल जाने के बाद कुशाग्र ने उसकी पत्नी को आर्थिक रूप से मदद देकर उसकी जमानत करवाई थी। कविनगर थाने के इंस्पेक्टर आनंद प्रकाश मिश्र की मानें तो उसी जमानत राशि के पैसे की मांग को लेकर कुशाग्र और योगेंद्र के बीच विवाद हुआ था। इसी विवाद में योगेंद्र के द्वारा पहली बार उसके सिर पर किया गया जिससे वह बुरी तरीके से लहूलुहान हो गया था। कुशाग्र ने अपने मोबाइल फोन से वीडियो रिकॉर्ड किया था और योगेंद्र को थाने में शिकायत देने की धमकी दी थी। खुद को फंसता हुआ देख योगेंद्र ने उसके सिर पर दूसरा वार कर दिया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पति पत्नी ने मिलकर लाश को रेहड़ी पर रखकर कुए में फेंका था।

कुशाग्र की हत्या के बाद जोगेंद्र और उसकी पत्नी पूजा ने उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए प्लान बनाया महिला ने उसके कपड़े हटाए को कि वह पूरी तरीके से खून से सने हुए थे उसके बाद एक बोरे में उस शव को रखकर रेडी के सहारे उसे सीजीओ कंपलेक्स के पीछे खाली खेतों के बीच बने कुएं में फेंक दिया और फिर शव को खरपतवार उसे ढक दिया ताकि कोई शव तक पहुंच न सके।

आरोपी दम्पत्ति गिरफ्तार, लाश बरामद

एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया कि योगेंद्र उसकी पत्नी की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस ने उनकी निशानदेही पर कौन से शव को बरामद कर लिया है और उसे पोस्टमार्टम को भेज दिया है । मृतक और आरोपी दोनों ड्रग्स का नशा करते थे जिसका नशा मुक्ति केंद्र में इलाज भी चल रहा था।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV