स्वास्थ्य व्यवस्था बदहाल : एंबुलेंस के अभाव में ठेले पर मरीज ने तोड़ा दम, परिजन बोले- ठेले पर दूसरे अस्पताल ले जा रहे थे

आजमगढ़ : प्रदेश सरकार स्वास्थ्य विभाग को सुधारने के लिए लाख दावा करें लेकिन आजमगढ़ जिले की एक तस्वीर ने सरकार के दावे की पोल खोल कर रख दिया। दरअसल बाइक की चपेट में आने से घायल एक व्यक्ति को लोग फूलपुर सीएचसी लेकर पहुंचे जहां चिकित्साकों ने ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। लेकिन घायल व्यक्ति को एम्बंलेंस नहीं मिली। जिसके बाद लोगों ने घायल व्यक्ति को ठेले पर लादकर निजी ट्रामा सेंटर पहुंचे लेकिन तब तक घायल व्यक्ति की सांसे थम चुकी थी। यह तस्वीरें बयां कर रही है कि आजमगढ़ जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह दम तोड़ चुकी है ।

सोमवार की देर रात फूलपुर के एलाआईसी आफिस के सामने साइकिल से जा रहे मैकेनिक रामसिंगार मौर्य को आचानक एक बाइक सवार ने टक्कर मार दी। हादसे के बाद स्थानीय लोग घायल रामसिंगार को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे जहां चिकित्सको ने उसे ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। परिजनों ने जब एंबुलेंस की मांग की तो बताया गया कि एम्बुलेंस खराब है। परिजनों के पास इतना रूपया नहीं थाकि वे एंबुलेंस कर सके। जिसके बाद परिजनों ने ठेले पर ही गंभीर रूप से घायल रामसिंगार को लेकर फूलपुर के एक निजी ट्रामा सेंटर में पहुंचे जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

वही स्थानीय लोगो का कहना है कि अगर समय पर घायल व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया होता तो उसकी जान बच गयी होती। लेकिन अस्पताल का एम्बुलेंस आये दिन ख़राब रहती है। अभी पिछले माह इसी अस्पताल के एक एम्बुलेंस को तीमारदार धक्का देते हुए दिखाई दिए थे जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। वही इस मामले में सीएमओ इंद्रनारायण तिवारी ने बताया कि मामला सज्ञान में है। अस्पताल के अधिकारीयों ने बताया कि जबतक एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाती परिजन बगल के ही एक अस्पताल में मरीज को लेकर चले गए। इस मामले की जाँच की जा रही है। अगर अस्पताल के अधिकारी या डॉक्टर की लापरवही पायी गयी तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV