क्या दिल्ली में लगने वाला है लॉकडाउन? जानिये क्या है बड़ी वजह…

बिगड़ती वायु गुणवत्ता को देखते हुए शीर्ष अदालत ने केंद्र और दिल्ली सरकार को शहर में प्रदूषण की निगरानी के लिए तत्काल कदम उठाने का निर्देश दिया था। इससे पहले दिल्ली सरकार ने अगले एक सप्ताह के लिए सोमवार से शुरू होने वाले स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को पहले ही बंद करने का आदेश दे दिया है।

आम आदमी पार्टी (AAP) के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि वह वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर को नियंत्रित करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में पूर्ण लॉकडाउन लागू करने के लिए तैयार है। हालांकि, दिल्ली सरकार ने कहा कि अगर दिल्ली एनसीआर (NCR) में भी लॉकडाउन लगाया जाता है तो यह एक कदम सार्थक होगा।

दिल्ली सरकार ने सोमवार को एक हलफनामे में कहा, “ऐसा कदम (संपूर्ण लॉकडाउन) तभी सार्थक होगा जब इसे पड़ोसी राज्यों के एनसीआर क्षेत्रों में लागू किया जाए।” हलफनामे में दिल्ली सरकार ने आगे कहा कि “दिल्ली के परिदृश्य को देखते हुए, एक लॉकडाउन से वायु की गुणवत्ता व्यवस्था पर बहुत सीमित प्रभाव पड़ेगा। एनसीआर क्षेत्रों कि वायु गुणवत्ता भी एक गंभीर मुद्दा है।”

Koo App
#Delhi ➡सुप्रीम कोर्ट में प्रदूषण को लेकर सुनवाई शुरू ➡दिल्ली सरकार ने कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया ➡दिल्ली में हम लॉकडाउन को तैयार हैं-दिल्ली सरकार ➡20 नवंबर तक स्कूलों की छुट्टी कर दी-दिल्ली सरकार ➡17 नवंबर तक निर्माण कार्यों पर रोक- दिल्ली सरकार ➡पूरे NCR में लॉकडाउन ही सार्थक होगा- दिल्ली सरकार ➡संपूर्ण लॉकडाउन से ही प्रदूषण कम होगा-दिल्ली सरकार।
भारत समाचार (@bharatsamachar) 15 Nov 2021

AAP सरकार ने अपनी बात दोहराते हुए कहा है कि अगर पूरे एनसीआर क्षेत्र और दिल्ली सहित उसके आस-पास के इलाकों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन जरुरी हो जाता है तो तो दिल्ली में लॉकडाउन लगाया जा सकता है। अभी दो दिन पहले ही शीर्ष अदालत ने केंद्र और दिल्ली सरकार को शहर में प्रदूषण की निगरानी के लिए तत्काल कदम उठाने का निर्देश दिया था, जिसमें दो दिन के लिए लॉकडाउन भी शामिल है।

बिगड़ती वायु गुणवत्ता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने सोमवार से शुरू होने वाले एक सप्ताह के लिए स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को पहले ही बंद करने का आदेश दे दिया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पिछले सप्ताह कहा, “दिल्ली में सभी स्कूल, कॉलेज और शैक्षणिक संस्थान अगले सप्ताह बंद रहेंगे क्योंकि प्रदूषण का स्तर आपातकालीन स्तर पर पहुंच गया है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × five =

Back to top button
Live TV