Real Vs Fake: क्या घर में इस्तेमाल हो रहे दूध में मिली है यूरिया? ऐसे करें दूध के शुद्धता की पहचान !

हमारे घर में दूध या तो डेयरी से आता है या फिर हम पैकेट बंद दूध खरीदना पसंद करते हैं. कई प्रकार की कंपनिया मार्केट में दूध उपलब्ध कराती है. लेतिन क्या आपको पता है कि जो दूध आप प्रयोग कर रहें हैं वो शुद्ध है या नही. दरअसल डेयरी के दूध वाले भैया से लेकर दूध उपलब्ध कराने वाली सारी कंपनियां तक ये दावा करती हैं कि उनका दूध शक प्रतिशत शुद्ध है.

लखनऊ, डिजिटल डेस्क: दुध का प्रयोग हर घर में प्रतिदिन होता है. दूध सिर्फ घर में ही नही बल्कि मिठाई इत्यादि की दुकानों में भी प्रयोग किया जाता है. मिठाई, पनीर, समेत कई खाने पीने वाली वस्तुओं को दूध की मदद से बनाया जाता है. दूध का प्रयोग चाय बनाने में काफी ज्यादा प्रयोग होता है.

हमारे घर में दूध या तो डेयरी से आता है या फिर हम पैकेट बंद दूध खरीदना पसंद करते हैं. कई प्रकार की कंपनिया मार्केट में दूध उपलब्ध कराती है. लेतिन क्या आपको पता है कि जो दूध आप प्रयोग कर रहें हैं वो शुद्ध है या नही. दरअसल डेयरी के दूध वाले भैया से लेकर दूध उपलब्ध कराने वाली सारी कंपनियां तक ये दावा करती हैं कि उनका दूध शक प्रतिशत शुद्ध है.

लेकिन कई बार आप धोखा खा जाते है वही इसकी जांच करने में असफल रहते है कि क्या घर में उपयोग होने वाला दूध वास्तव मे शुद्ध है या नही. इस ऑर्टिकल में आपका ये कंफ्यूजन हम दूर करने जा रहे है. आपको बताने जा रहे है कि वो कौन से उपाय हैं जिनसे आप आसानी से दूध की शुद्धता की जांच कर सकते हैं वो भी घर बैठे. इसके लिए आपको इन उपायों को अपनना होगा.

शुद्धता परीक्षण

सबसे आसान तरीका है दूध की शुद्धता की जांच करने के लिए आप थोड़ा दूध ले और उसको उबाले. दूध को धीमी आंच पर 2-3 घंटे के लिए तब तक उबालें जब तक कि वह सख्त होने के साथ गाढ़ा न हो जाए. अगर इस अवधी के बाद दूध ऑयली दिखने लगे तो समझे ये शुद्ध है वही अगर वो ऑयली नहीं नज़र नही आता है तो उसमें मिलावट की जा सकती है.

दूध में मिला हो सकता है स्टार्च

आप जिस दूध का प्रयोग कर रहे है उसमे स्टार्च मिला हो सकता है. स्टार्च का प्रयोग सेहत के लिए काफी हानिकारक माना जाता है. ऐसे में आपको इसकी जांच करनी चाहिए. इसके लिए आप कुछ मिलीलिटर दूध लें और उसमे आयोडिन मिलाए. यदि इसका रंग बैगनी या नीला हो जाता है तो समझिए कि दूध में स्टार्च मिलाया गया है. अगर दूध शुद्ध होगा तो उसके रंग में किसी प्रकार का कोई परिवर्तन नहीं दिखेगा.

दूध में मिला हो सकता है यूरिया

दूध की मात्रा बढ़ाने और उसके रंग को सफेद बरकार रखने के लिए इन दिनो धड़ल्ले से यूरिया मिलाया जा रहा है. दरअसल यूरिया पूरी तरीके दूध में घुल जाता है और दूध के रंग में कोई परिवर्तन भी नहीं होता. दूध में यूरिया की जांच करने के लिए आधा टेबल स्पून दूध और सोयाबीन (या अरहर) का पाउडर एक साथ मिलाएं और अच्छी तरह हिलाएं. पांच मिनट के बाद, लिटमस पेपर को तीस सेकंड के लिए डुबोएं और अगर लाल से नीले रंग में कोई रंग संशोधन हो तो इसका मतलब है कि दूध में यूरिया है.

दूध में पानी

सबसे आसान और सामान्य तरीका है दूध में पानी मिलाना. आम तौर पर देखा जाता है कि शायद ही जो दूध आप लाते है उसमे पानी न मिला हो. दूध में पानी आपकी सेहत के लिए खतरनाक नहीं हो सकता है, लेकिन आपकी जेब के लिए महंगा हो सकता है. दूध में पानी के होने की जांच आसानी से की जा सकती है. सबसे पहले दूध की कुछ बूंदों को ले और झुकी हुई सतह पर रखें. यदि वो कोई रास्ता छोड़े बगैर जाता है तो इसका मतलब है कि दूध शुद्ध है. आप इसका प्रयोग आसानी से कर सकते है.

Related Articles

Back to top button
Live TV