Adani Ports : वित्तीय वर्ष 2021-22 से करण अडानी को अपनी कम्पनी APSEZ Limited से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद

APSEZ के सीईओ करण अडानी का कहना है वित्तीय वर्ष 2021-22 उनके लिए मील का पत्थर साबित होने वाला है। बता दें कि APSEZ के शेयर बुधवार को बीएसई पर ₹745.65 पर बंद हुए, जो पिछले बंद के मुकाबले 0.56 फीसदी कम है।

अडानी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड (APSEZ Limited) , गौतम अम्बानी की एक निजी पोर्ट ऑपरेटर कंपनी है। यह भारत की सबसे बड़ी निजी मल्टी-पोर्ट ऑपरेटर कंपनी है। इस कंपनी ने बुधवार को एक प्रेस रिलीज जारी की जिसमे यह जानकारी दी गयी है कि 30 सितंबर को जब वित्तीय तिमाही समाप्त हुई तब तक इसने ₹329 करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जित किया। कंपनी ने पिछले साल 2020 की इसी तिमाही में ₹694 करोड़ का लाभ अर्जित किया था। इस तरह कंपनी के मुनाफे में लगभग 53 फीसदी की कमी हुई है।

जुलाई से सितंबर की इस तिमाही के दौरान पोर्ट्स के परिचालन में कंपनी का राजस्व लगभग ₹1,090 करोड़ रहा। इसी तिमाही के दौरान कंपनी का कुल खर्च भी बढ़ा हुआ है। कंपनी का कुल खर्चा पिछले साल की जुलाई से सितंबर तक की तिमाही की तुलना में लगभग 84 प्रतिशत बढ़ गया है और ₹621 करोड़ से बढ़कर लगभग ₹1,143 करोड़ हो गया है। वर्तमान में कंपनी का इस तिमाही के दौरान कुल खर्च ₹634 करोड़ है। अगर खर्चे से ब्याज और बैंक शुल्क हटा दे तो यह राशि मात्र ₹495 करोड़ की रह जाती है।

कुल मिलाकर APSEZ Limited ने इस तिमाही में कुल ₹968 करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जित किया है जो, पिछले साल की इसी तिमाही में अर्जित ₹1,394 करोड़ के शुद्ध लाभ से 30 प्रतिशत कम है। इस दौरान केवल पोर्ट्स के परिचालन से कुल राजस्व ₹3,532 करोड़ का रहा जो पिछले साल की इस तिमाही में अर्जित राजस्व ₹2,902 करोड़ के आंकड़े से अधिक है।

वहीं अर्ध-वार्षिक आधार पर, कर हटाने के बाद कंपनी का समेकित लाभ 7 प्रतिशत और बढ़कर ₹2,310 करोड़ (अप्रैल-सितंबर) हो गया, जबकि इस अवधि के लिए समेकित राजस्व 56 प्रतिशत बढ़कर ₹8,089 करोड़ हो गया। इस अवधि के लिए समेकित ब्याज, कर, मूल्यह्रास और परिशोधन से पहले की कमाई (EBITDA) 47 प्रतिशत की वृद्धि के साथ ₹4,826 करोड़ रहा।

कंपनी के प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुए, APSEZ के सीईओ करण अडानी ने कहा, “उच्च-विकास क्षेत्रों पर ध्यान देने के साथ भौगोलिक विस्तार की हमारी रणनीति, कार्गो मिश्रण को संतुलित करना, रसद व्यवसाय में विस्तार, विशेष रूप से रेल परिवहन, और ग्रेड- A में प्रवेश करना, कंपनी के प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुए, APSEZ के सीईओ करण अडानी ने कहा, “उच्च-विकास क्षेत्रों पर ध्यान देने के साथ भौगोलिक विस्तार की हमारी रणनीति, कार्गो मिश्रण को संतुलित करना, रसद व्यवसाय में विस्तार, विशेष रूप से रेल परिवहन, और ग्रेड- A में प्रवेश करना, वेयरहाउसिंग सेगमेंट ‘ट्रांसपोर्ट यूटिलिटी’ बिजनेस मॉडल की ओर हमारे कदम को दर्शाता है और इसके परिणामस्वरूप हमारे मार्केट शेयर में लगातार वृद्धि हो रही है। यह वित्तीय वर्ष 2021-22 हमारे लिए मील का पत्थर साबित होने वाला है।” बता दें कि APSEZ के शेयर बुधवार को बीएसई पर ₹745.65 पर बंद हुए, जो पिछले बंद के मुकाबले 0.56 फीसदी कम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 − four =

Back to top button
Live TV