ललितपुर: देर रात मृतक किसानों के परिवार से मिले टिकैत, कहा- माफिया डकार रहे हैं किसानों का हक, शोषित है बुंदेलखंड का किसान

ललितपुर. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत खाद के लिए किसानों को हो रही है दिक्कतों पर काफी नाराज हुए। किसानों की मौत पर उनका माथा ठनका और बोले कि लाइन में लगा कर किसान मर रहे हैं लेकिन सरकार को शर्म तक नहीं आ रही है। उन्होंने कहा बुंदेलखंड का किसान मारा मारा घूम रहा है उसकी स्थिति में सुधार ऑर्गेनिक बोर्ड के गठन होने पर ही होगा।

ललितपुर. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत खाद के लिए किसानों को हो रही है दिक्कतों पर काफी नाराज हुए। किसानों की मौत पर उनका माथा ठनका और बोले कि लाइन में लगा कर किसान मर रहे हैं लेकिन सरकार को शर्म तक नहीं आ रही है। उन्होंने कहा बुंदेलखंड का किसान मारा मारा घूम रहा है उसकी स्थिति में सुधार ऑर्गेनिक बोर्ड के गठन होने पर ही होगा।

किसान नेता राकेश टिकैत ने मृतक किसानों के घर पहुंचकर उनकी स्थिति का जायजा लिया और उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। उन्होने कहा कि किसानों की मौत है यूं ही खाली नहीं जाएगी समय आने पर सरकार को इसका करारा जवाब दिया जाएगा। राकेश टिकैत नया गांव की भोगी पाल के परिजनों से मुलाकात की तो वही बनियाना में महेश बनकर के परिवार से मुलाकात कर मदद का भरोसा दिलाया तो वही पाली के पनियारा मोहल्ले में पहुंचकर बबलू पाल के परिजनों से मुलाकात की।किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत देर रात तक किसानों से हाल-चाल जाना और यहां की खेती के बारे में किसानों से बातें भी की।

राकेश टिकैत ने 26 नवंबर तक केन्द्र और प्रदेश सरकार को बताते हुए कहा है कि 27 नवंबर से किसान गांव से ट्रैक्टर भरकर दिल्ली के चारों तरफ आंदोलन स्थलों पर बॉर्डर पहुंचेंगे। अकेली बंदी के साथ आंदोलन आंदोलन स्थल पर तंबू को मजबूत करेंगे। किसान आंदोलन पर संघर्ष ही समाधान तक आंदोलन चलने की बात कही। कहा कि सरकार अपना कृषि कानून वापसी के साथ किसानों को उनकी फसल के लिए एमएसपी गारंटी तक ही सभी किसानों की घर वापसी होगी।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty − six =

Back to top button
Live TV