लखनऊ : किसान महापंचायत में हुआ फैसला, ‘जब तक सरकार नहीं करती बातचीत, जारी रहेगा आंदोलन’

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने सिंघू मोर्चा पर बैठक के बाद कल देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र भेजा। सोमवार को लखनऊ में आयोजित हुए किसान महापंचायत में किसान हित के कई मुद्दों पर चर्चा हुई। प्रधानमंत्री को सम्बोधित पत्र में पीएम को यह याद दिलाया गया कि उन्होंने किसानों से घर वापस जाने की अपील की है।

पत्र में कहा गया, “हम आपको यकीन दिलाना चाहते हैं कि हमें सड़क पर बैठने का शौक नहीं है। हम भी चाहते हैं कि जल्द से जल्द बाकी मुद्दों का निपटारा कर हम अपने घर, परिवार और खेती बाड़ी में वापस लौटें। अगर आप भी यही चाहते हैं तो सरकार पत्र उल्लेखित छह मुद्दों पर अविलंब संयुक्त किसान मोर्चा के साथ वार्ता शुरू करे। तब तक संयुक्त किसान मोर्चा इस आंदोलन को जारी रखेगा।”

इस बीच, सभी घोषित कार्यक्रम योजनानुसार जारी रहेंगे, और 27 नवंबर 2021 को एसकेएम की बैठक में एक वर्ष से चल रहे आंदोलन समीक्षा की जाएगी। किसान संगठनों ने महापंचायत की बैठक में यह फैसला लिया कि जब तक सरकार पत्र में उल्लेखित मांगों पर किसान संगठन के लोगों से वार्ता नहीं शुरू करती है तब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने पत्र के जरिये सरकार को किसानों से बातचीत करने का आह्वान किया।

देश भर में कई राजनीतिक दल आंदोलन के लंबित मुद्दों से संबंधित समाधान पर एसकेएम की मांगों को मजबूती से उठा रहे हैं, चाहे वह एमएसपी कानूनी गारंटी से संबंधित हों या शहीदों के परिवारों को मुआबजा देने या प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामले वापस लेने आदि से संबंधित हो।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV