फोन चोरी होने पर नहीं गायब होंगे बैंक से पैसे, बस करें ये आसान काम…

अगर आप अपना फोन चोरी होने के बाद में सही कदम उठाते हैं, तो आप रिकवरी की संभावना बढ़ा सकते हैं और नुकसान को सीमित कर सकते हैं।

डिजटल दौर की भाग दौड़ भरी दुनिया में फोन रखना एक आम बात हो गई है। फोन चाहे मंहगा हो या सस्ता पर फोन से ज्यादा जरुरी उसके अन्दर की चींजें होती हैं। हम फोन को विभिन्न तरीकों से उपयोग में लाते हैं। हर व्यक्ति के बैंक का खाता उसके मोबाइल नंबर से लिंक होता है। बैंक खाते में नंबर लिंक के साथ लोग डिजीटल पेंमेट का बहुतायात में प्रयोग कर रहें हैं।

ऐसी स्थिती में अगर आपका मोबाइल खो जाए तो मोबाइल की कीमत से ज्यादा उसके अन्दर रखी हुई चींजे और बैंक की डिटेल बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाती है। क्योंकि इस स्थिति में आपका बैंक खाता सेकंडों में खाली हो सकता है। अगर आप अपना फोन चोरी होने के बाद में सही कदम उठाते हैं, तो आप रिकवरी की संभावना बढ़ा सकते हैं और नुकसान को सीमित कर सकते हैं।

मोबाइस चोरी होने पर बैंक की धोखाधड़ी से बचने के लिए सबसे पहले आपको अपना यूपीआई डिसेबल करवाना होगा। अगर आपका यूपीआई डिसेबल हो जाता है तो आपके बैंक अकाउंट से यूपीआई के जरिए कोई भी पेमेंट नहीं की जा सकेगी। यूपीआई डिसेबल करवाने के लिए आपको किसी भी नंबर से बैंक के कस्टमर केयर के पास फोन करके घटना की पूरी जानकारी देनी होगी।

कस्टमर केयर से तुरन्त नंबर ब्लाक और यूपीआई डिसेबल करने के लिए कहना होगा। कस्टमर केयर आपसे जुड़ी कुछ जानकारी आपसे लेकर इस मामले पर आगे कार्रवाई कर आपका नंबर डिसेबल कर देगा और फिर आपके मोबाइल से किसी भी प्रकार का कोई ट्रंजेक्शन नहीं होगा। मोबाइल चोरी होने के बाद पुलिस के पास एफआईआर करवाना भी जरुरी है।

Related Articles

Back to top button
Live TV