दिवंगत ब्रिगेडियर लिड्डर को श्रद्धांजलि देते हुए बोली बेटी आशना – ‘मेरे पिता एक हीरो थे, यह पुरे देश के लिए बहुत बड़ी क्षति’

ब्रिगेडियर लखविंदर सिंह लिड्डर की पत्नी गीतिका लिड्डर और बेटी आशना लिड्डर ने आज सुबह दिल्ली के बरार श्मशान घाट में उन्हें अलविदा कह दिया। बरार अंत्येष्टि स्थल पर माहौल बेहद गमगीन था। बरार सैन्य अंत्येष्टि स्थल से सामने आये एक मार्मिक वीडियो में आशना अपनी माँ गीतिका के साथ रोती हुई दिखाई दे रही है। उन्होंने अपने पिता के ताबूत पर गुलाब की पंखुड़ियों का एक गुच्छा रखकर भावभीनीं श्रद्धांजलि अर्पित किया।

समाचार एजेंसी ANI से बातचीत के दैरान आशना ने कहा, “मैं 17 साल का होने जा रही हूं। इसलिए वह 17 साल तक मेरे साथ रहे, हम उनकी सुन्दर यादों के साथ आगे बढ़ेंगे। यह पुरे देश के लिए बड़ी क्षति है। मेरे पिता एक हीरो थे, मेरे सबसे अच्छे दोस्त थे। शायद यह किस्मत में था हम उम्मीद करते हैं कि और बेहतर चीजें हमारे रास्ते में आएंगी। वह मेरे सबसे बड़े प्रेरक (Motivator) थे।”

इससे पहले, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, हरियाणा के मुख्यमंत्री एमएल खट्टर,समेत तमाम सैन्य अधिकारियों ने शुक्रवार को लिड्डर के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए उन्हें अश्रुपूर्ण और भावभीनीं श्रद्धांजलि अर्पित की। तमिलनाडु में हुए एक दुखद सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना में 12 अन्य लोगों के साथ ब्रिगेडियर लखविंदर सिंह लिड्डर की भी मृत्यु हो गई थी। ब्रिगेडियर लिड्डर के पार्थिव शरीर को उनके दाह संस्कार से पहले दिल्ली छावनी के बरार स्क्वायर में रखा गया था।

Related Articles

Back to top button
Live TV