सियासत : कंगना को पद्मश्री दिए जाने पर भड़के वरुण गांधी, जानें क्या है पूरा मामला…

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने कंगना रनौत के आजादी को भीख में मिली कहे जानें पर अपनी नाराजगी जाहिर की है। वरुण गांधी ने ट्वीट कर लिखा, कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार। इस सोच को मैं पागलपन कहूँ या फिर देशद्रोह?

Koo App
#Delhi ➡कंगना रनौत के बयान पर वरुण गांधी नाराज ➡कंगना ने आजादी को भीख में मिली बताया था ➡देश आजाद हुआ 2014 में – कंगना ➡ये पागलपन है या देशद्रोह- वरुण गांधी ➡कंगना को पद्मश्री दिए जाने पर भड़के वरुण ➡गांधी जी का अपमान और हत्यारे का सम्मान ➡लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का अपमान। भारत समाचार (@bharatsamachar) 11 Nov 2021

आपको बता दें कंगना रनौत ने एक कार्यक्रम के दौरान 1947 में मिली आजादी और हिंसा का जिक्र करते हुए कहा था कि वो आजादी नहीं थी बल्कि भीख थी। कंगना इतने पर ही नहीं रुकीं, उन्होंने आगे कहा कि जो आजादी मिली है वह 2014 में मिली है।

इस बयान के बाद कंगना रनौत को सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया गया था। सोशल मीडिया पर लोगो ने कहा कंगना हजारों कुर्बानियों को भीख बता रही हैं। कई लोगों ने यूपीए शासन काल के दौरान उन्हें नेशनल अवॉर्ड को स्वीकार किए जाने पर भी सवाल खड़े किए थे। यूजर का कहना था कि यदि वह आजादी भीख थी तो आपने वह नेशनल अवॉर्ड क्यों लिया। एक यूजर ने उन्हें झांसे की रानी का भी खिताब दिया। वहीं, एक अन्य यूजर ने लिखा कि कंगना खुद लकड़ी के घोड़े पर सवार होकर प्लास्टिक की तलवार लेकर वीरांगना बनती हैं।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

17 − 11 =

Back to top button
Live TV