सपा-सुभासपा गठबंधन : भाजपा पर जमकर बरसे अखिलेश, कहा- वंचितों और दलितों को दिलाएंगे छीना हुआ सम्मान

मऊ के हलधरपुर मैदान में आयोजित सपा-सुभासपा की संयुक्त सभा में भागीदारी महापंचायत को सम्बोधित करते हुए अखिलेश यादव ने जमकर बीजेपी पर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने कोरोना काल की अव्यवस्था से लेकर किसानों और मंहगाई पर प्रदेश की भाजपा सरकार को घेरा।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को मऊ के हलधरपुर मैदान में आयोजित भागीदारी महापंचायत को सम्बोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश का चुनाव गरीबों, किसानों और नौजवानों का भविष्य तय करने का चुनाव है। भाजपा सरकार ने उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर दिया है। भाजपा की केंद्र सरकार यूपी के लिए और यूपी सरकार केंद्र के लिए झूठ बोल रही है। भाजपा सरकार ने सभी वर्गों को धोखा दिया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा का उत्तर प्रदेश से सफाया हो जाएगा। अखिलेश ने कहा कि वो गरीबों, वंचितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों का छीना हुआ सम्मान वापस दिलाएंगे।

उन्होंने आगे कहा कि हम बाबा साहेब और लोहिया के सिद्धांतों पर चलने वाले लोग हैं। भाजपा झूठ बोलने वाली पार्टी है। वह सपने दिखाती है और झूठे वादे करती है। चप्पल पहनने वालों को हवाई जहाज की सवारी के सपने दिखाए थे। आज डीजल-पेट्रोल की महंगाई से उनकी मोटर साइकिले खड़ी हो गईं है। यादव ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौर में सरकार ने मदद तक नहीं की। तमाम लोगों के सगे सम्बंधी दवा और अस्पताल के लिए भटकते रहे। भाजपा सरकार ने कोई मदद नहीं की और सबको अनाथ छोड़ दिया। पिछले दिनों 9 मेडिकल कॉलेजों का पर्दे लगाकर उद्घाटन कर दिया गया लेकिन पर्दा हटा तो वहां कुछ नहीं था। भाजपा चुनाव में कोई भी साजिश और षड्यंत्र कर सकती है। प्रदेश के लोगों को भाजपा की साजिशों से सावधान रहना है।

अखिलेश यादव ने किसानों के बारे में कहा कि भाजपा ने साढ़े चार साल में प्रदेश के लोगों के साथ अन्याय और अत्याचार किया। किसानों पर तीन काले कानून थोप दिए जिनके लागू होने के बाद किसान अपने ही खेत में मजदूर बन जाएगा। अखिलेश यादव ने खीरी वाली घटना का जिक्र करते हुए कहा कि जब किसानों ने तीन कृषि कानूनों का विरोध किया तो भाजपा सरकार के लोगों ने किसानों को जीप के टायरों के नीचे रौदा। किसानों को कुचलने का काम किया है। किसानों का इतना अपमान कभी नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने किसानों से उनकी आय दोगुनी करने की बात कही थी। लेकिन आय दोगुनी करने के बजाय महंगाई दोगुनी कर दी।

अखिलेश यादव यहीं नहीं रुके, उन्होंने मंहगाई पर भी भाजपा सरकार को घेरा और कहा कि आज खाद, बीज दवाई सबकुछ महंगी हो गई हैं। खेती का लागत मूल्य बढ़ गया है और सरकार किसानों को खेती के लिए डीएपी खाद तक नहीं उपलब्ध करा पा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में किसान से लेकर नौजवान तक हर कोई त्रस्त है।

सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश को भुखमरी के कगार पर पहुंचा दिया है जहां लोगों को दो जून का खाना भी नहीं नसीब हो पा रहा है। पेट्रोल 100 के पार हो गया है और ऐसा लग रहा है कि इस सरकार में पेट्रोल की कीमत चुनाव तक डेढ़ सौ पार कर जाएगी। महंगाई और गरीबी के कारण लोग आत्महत्या करने पर मजबूर हो गए हैं।

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर समाजवादी पेंशन तीन गुना कर देने का वायदा भी किया। उन्होंने आगे निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार केवल रंग बदलने वाली और नाम बदलने वाली सरकार है। इसने सिर्फ शिलान्यास का शिलान्यास और उद्घाटन का उद्घाटन किया है। पिछली सरकार में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम समाजवादी पार्टी ने शुरू किया था, लेकिन यह सरकार 5 साल में भी वह काम पूरा नहीं कर पायी। यह धुएं वाली सरकार है इसको गरीबों के दुख दर्द से कोई लेना देना नहीं है।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV