तस्वीरों में देखिये कैसे बीच समुद्र में फंसे मछुआरों को अदानी सुरक्षा दल ने बचाया…

अदानी सुरक्षा दल यहां तैनात विझिंजम बंदरगाह को बचाया गया। 15 फंसे हुए मछुआरे जो बाहर गए थे। खराब मौसम होने के बावजूद समुद्र में मछली पकड़ने गए थे मछुआरे। भारतीय मौसम विज्ञान और केरल सरकार ने अलर्ट जारी किया था। तेज हवाएं और 10 जिलों में उबड़-खाबड़ समुद्र राज्य, विशेष रूप से तटीय क्षेत्रों चेतावनी जारी की गयी थी।

अलर्ट के बावजूद भी वहां पर 1 अगस्त से 4 अगस्त तक मछुआरे थे। इस दौरान समुद्र में उद्यम न करने की विशेष रूप से चेतावनी दी गयी थी। लेकिन सबकी अवहेलना करते हुए कुछ मछुआरों ने विझिंजामी बंदरगाह से अपनी नावों के साथ समुद्र में चले गए।

कोवलम क्षेत्र से लौटते समय दुर्भाग्य से, 01 अगस्त को 22 युवा मछुआरा अपनी नाव से समुद्र में गिर गए और भीषण लहरों में खो गया था। भीषण लहरों में खो गया था। वहीँ पाँच अन्य साथ अपनी नावों के साथ फंसे हुए थे। फंसे मछुआरे को बचाव के लिए तटीय पुलिस कोट्टापुरम के विकर ने एक एसओएस भेजा।

चूंकि पुलिस की नावें ऐसे हालात में समुद्र में उतरने में असमर्थ हैं। पुलिस ने अदानी सुरक्षा दल से संपर्क किया। पायलट नाव डॉल्फिन 41 मदद के लिए कार्रवाई में लगाया गया।

उबड़-खाबड़ समुद्र और तेज़ हवाओं के बावजूद डॉल्फिन 41 विझिंजामी से रवाना हुई। तटीय पुलिस के साथ बंदरगाह फंसे मछुआरों की तलाश में जुटी टीम. अदाणी में तैनात सुरक्षाकर्मी विझिंजम पोर्ट निगरानी करता रहा। प्राप्त जानकारी मछली पकड़ने के जहाजों और टीम 15 को बचाने में सफल रही। सभी मछुआरे सफलतापूर्वक बंदरगाह स्टैंडबाय पर लौट आये। और वहीं बंदरगाह के अंदर मछली पकड़ने वाली बाकी नावें सुरक्षित लौट आयी।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV