शर्मनाक : प्रैक्टिकल के नाम पर 10वीं की 17 छात्राओं से छेड़छाड़ का आरोप, लोगों ने किया हंगामा…

मुजफ्फरनगर में प्रैक्टिकल के नाम पर एक शिक्षक पर 17 हाईस्कूल की छात्राओं को नशीला पदार्थ देकर स्कूल में अश्लीलता करते हुए छेड़छाड़ करने का आरोप है। वहीं आरोप ये है कि प्रैक्टिकल के नाम पर 17 छात्राओं को रात में स्कूल में रोककर खाने में नशीला पदार्थ देने के बाद अध्यापक ने छात्राओं से छेड़छाड़ और अश्लीलता की हदे पार की। वही साथ ही आरोप ये भी है की आरोपी टीचर ने मुंह खोलने पर छत्राओं को फेल करने की धमकी भी दी थी, इस सनसनीखेज़ मामले में दो पीड़ित छात्राओं ने जब अपने परिजनों के साथ एसएसपी से मामले की शिकायत की तो पुलिस हरक़त में आई और मामला उजागर हुआ।

दरअसल ये पूरा मामला पुरकाजी थानाक्षेत्र के तुगलपुर कम्हेड़ा गांव के एक स्कूल का है, जहाँ भोपा थाना क्षेत्र के सूर्य देव पब्लिक स्कूल की 17 हाई स्कूल की छात्राओं को प्रैक्टिकल के बहाने 18 नवंबर को पुरकाजी के GGS इंटरनेशनल एकेडमी स्कूल में लाया गया था, छात्राओं का आरोप है कि उनके साथ स्कूल के संचालक अर्जुन सिंह ने उन्हें खाने में नशीला पदार्थ देकर अश्लील हरकत करने के साथ साथ छेड़छाड़ की वारदात को अंजाम दिया है, आपको बता दें की शिक्षा के मंदिर में हाई स्कूल की 17 छात्राओं से हुई सामूहिक अश्लीलता के इस सनसनी खेज मामले को पुरकाजी पुलिस पिछले 5 दिनों से शिकायत के बावजूद भी दबाने में लगी हुई थी, लेकिन पीड़ित दो छात्राओं ने परिवार के साथ एसएसपी ऑफिस पहुंचकर एसएसपी को मामले की शिकायत की तो पुलिस अधिकारियों ने मामले का तत्काल संज्ञान लेते हुए पुरकाजी इंपेक्टर विनोद कुमार को लापरवाही बरतने पर लाइन हाजिर करते हुए मामले में तत्काल मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्यवाई के आदेश दिये है।

बहरहाल पुलिस ने पीड़ित छात्राओं के परिजन की तहरीर पर दोनों स्कूलों के संचालक योगेश और अर्जुन सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 328,354, 506 के साथ ही लैगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की 7 व 8 में मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी, लेकिन इस सनसनीखेज़ मामले में पुलिस का कोई भी अधिकारी मीडिया के सामने कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

सुशील कुमार सैनी तुगलपुर कम्हेड़ा गांव के प्रधान का कहना है, की पता चला है की प्रैक्टिकल के नाम पर अध्यापक ने छात्राओं से अश्लीलता करने के साथ एक छात्रा के साथ रेप भी किया है, प्रधान ये भी कहना है कि उन्होंने पुलिस को शिकायत की थी और पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया, लेकिन बाद में पैसे लेकर छोड़ दिया, प्रधान का आरोप है की स्कूल में कोई प्रैक्टिकल नहीं चल रहे है, उन्होंने इस बात को लेकर सभी स्कूलों के साथ एक बैठक भी की है।

Related Articles

Back to top button
Live TV