सपा से गठबंधन के कयासों पर खुलकर बोले शिवपाल, कहा-‘दिल मिले, तभी हुआ गठबंधन, जल्द सांझा करेंगे मंच’

प्रासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने अखिलेश के साथ बिना शर्त गठबंधन किया है और जिन लोगों ने निरंतर मेहनत की है और लगातार लोगों के बीच रहे हैं उनको चुनाव लड़ाया जाएगा।

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने समजवादी पार्टी के साथ प्रासपा के गठबंधन के कयासों को लेकर बड़ा बयान दिया है। मंगलवार को उन्होंने अपने एक बयान में कई बड़ी बातें कहीं। समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन की संभावनाओं पर उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव की सपा से उनका गठबंधन पहले ही हो चूका है और जल्द ही दोनों नेता एक मंच पर भी नजर आएंगे।

प्रासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने अखिलेश के साथ बिना शर्त गठबंधन किया है और जिन लोगों ने निरंतर मेहनत की है और लगातार लोगों के बीच रहे हैं उनको चुनाव लड़ाया जाएगा। उन्होंने अपने बेटे आदित्य यादव के चुनावी मैदान में उतरने के सवाल पर भी बयान देते हुए कहा कि आदित्य पहले से ही पार्टी के एक अहम ओहदे पर हैं और वो चुनाव लड़ेंगे या नहीं यह पार्टी तय करेगी।

अखिलेश के परिवार के साथ अपने रिश्तों को लेकर बोलते हुए शिवपाल ने कहा कि अखिलेश यादव से उनका दिल मिला हैं तभी इस गठबंधन ने आकार लिया है और अब हम दोनों परिवारों के बीच में कोई गिला शिकवा नहीं है। शिवपाल ने यह भी कहा कि वो अखिलेश को यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं और वो चाहते हैं कि अखिलेश यादव एक बार फिर मुख्यमंत्री बने।

वहीं प्रदेश में सक्रिय आयकर विभाग की लगातार छापेमारी पर भी शिवपाल ने अपनी बात रखी और कहा कि सपा समर्थकों और अखिलेश के करीबियों पर पड़ने वाले छापे राजनीति से प्रेरित हैं और ये छापे पूरे चुनाव तक चलते रहेंगे। उन्होंने आगे कहा कि हालांकि इन छापों से भाजपा जिस चुनावी फायदे की तलाश में हैं वह उसे मिलने वाली नहीं हैं इस तरह की छापेमारी से भारतीय जनता पार्टी को फायदे के अलावा केवल नुकसान ही होगा।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV