बिकरू कांड की आरोपी खुशी दुबे की मां को सपा ने की टिकट की पेशकश, मां बोलीं – बेटी के लिए लडूंगी चुनाव

बिकरू मामले में मारे गए कुख्यात अपराधी विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे की सास गायत्री तिवारी से सोमवार को सपा के मेजर आशीष चतुर्वेदी ने संपर्क किया और उन्हें कानपुर के गोविंद नगर सीट से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ने की पेशकश की।

यूपी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सपा ने बिकरू कांड की आरोपी, जेल में बंद खुशी दुबे की मां, गायत्री तिवारी को चुनाव लड़ने के लिए टिकट की पेशकश की है। समाजवादी पार्टी ने बहुचर्चित बिकरू कांड में कुख्यात अपराधी विकास दुबे (Vikas dubey) के राइट हैंड रहे अमर दुबे (Amar dubey) की सास को टिकट की पेशकश की है।अमर दुबे (Amar dubey) की सास गायत्री तिवारी को कानपुर के गोविंद नगर विधानसभा सीट से टिकट की पेशकश की गई है।

बिकरू मामले में मारे गए कुख्यात अपराधी विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे की सास गायत्री तिवारी से सोमवार को सपा के मेजर आशीष चतुर्वेदी ने संपर्क किया और उन्हें कानपुर के गोविंद नगर सीट से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ने की पेशकश की। इस दौरान गायत्री तिवारी ने संवाददाताओं से कहा कि अगर इससे उन्हें अपनी बेटी को जेल से बाहर निकालने में मदद मिलती है, तो वह चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं।

गायत्री तिवारी ने कहा, “मैंने अपनी बेटी को न्याय दिलाने के लिए डेढ़ साल तक संघर्ष किया, लेकिन असफल रही। बिकरू कांड के तीन दिन पहले ही उसकी शादी हुई थी और पुलिस ने उसे नाबालिग होने के बावजूद भी गिरफ्तार कर लिया था।” बता दें कि खुशी दुबे की शादी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के राइट हैंड अमर दुबे से हुई थी जिसके ठीक सात दिन बाद ही वह पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था। गायत्री तिवारी ने आगे कहा कि उन्हें अखिलेश यादव के नेतृत्व पर भरोसा है और पार्टी ने उनसे वादा किया था कि खुशी को उनकी सरकार बनने के एक महीने के भीतर रिहा कर दिया जाएगा।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventeen − eight =

Back to top button
Live TV