शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले दिल्ली पुलिस और अन्य एजेंसियों को किया गया सतर्क, यह है बड़ा कारण…

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार,खालिस्तान का समर्थन करने वाली सिख फॉर जस्टिस (Sikhs For Justice) संस्था द्वारा किसानों से संसद का घेराव करने और आज वहां खालिस्तानी झंडा फहराने की अपील करते हुए एक ऑनलाइन वीडियो जारी करने के बाद खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया है।

दिल्ली पुलिस और अन्य एजेंसियों को सतर्क रहने को कहा गया है। सूत्रों ने कहा कि कृषि कानून वापसी विधेयक को 26 नवंबर को राज्यसभा सांसदों के बीच परिचालित किया गया था और सरकार इसे लोक सभा से पारित होने के बाद दोपहर में राज्यसभा में पेश कर सकती है।

दरअसल, समाचार एजेंसी ANI की एक रिपोर्ट के मुताबिक खुफिया इनपुट के बाद अलर्ट जारी किया गया है जिसमें कहा गया है कि प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) संसद भवन का घेराव करा सकता है और उस पर खालिस्तान का झंडा फहरा सकता है।

काउंसिल जनरल ऑफ सिख फॉर जस्टिस गुरपतवंत सिंह पन्नू ने YouTube पर एक वीडियो जारी किया है, जिसमें वीडियो में किसानों से संसद का घेराव करने और संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान खालिस्तानी झंडा फहराने की अपील की गई है। पन्नू ने वीडियो में कहा है कि संसद पर खालिस्तान का झंडा फहराने वाले को 125000 अमेरिकी डॉलर का इनाम दिया जाएगा।

खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस समेत सभी एजेंसियों को अलर्ट रहने के साथ ही संसद के आसपास सुरक्षा के व्यापक इंतजाम करने को कहा है। संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू होने जा रहा है। शीतकालीन सत्र 23 दिसंबर को समाप्त होने वाला है।

बता दें कि सिख फॉर जस्टिस एक अमेरिकी-आधारित अलगाववादी समूह है जो भारत से पंजाब को खालिस्तान के रूप में अलग करने का समर्थन करता है। भारत में इस संगठन को साल 2019 में एक गैरकानूनी संस्था के रूप में प्रतिबंधित कर दिया गया था।

Related Articles

Back to top button
Live TV