दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया, भारत में 2023 से शुरू हो सकती है 6जी सेवाएं

देश में अभी तक 5जी सेवा शुरू नहीं हुई है, लेकिन 6जी तकनीक की तैयारी शुरू हो गई है। दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मंगलवार को बताया कि भारत स्वदेश में विकसित 6जी तकनीक की दिशा में काम कर रहा है। इसे 2023 के अंत या 2024 की शुरुआत में यानी 2 साल में लॉन्च करने का लक्ष्य रखा है। इस तकनीक पर काम कर रहे वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को जरूरी अनुमति दे दी गई है।

देश में अभी तक 5जी सेवा शुरू नहीं हुई है, लेकिन 6जी तकनीक की तैयारी शुरू हो गई है।  दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मंगलवार को बताया कि भारत स्वदेश में विकसित 6जी तकनीक की दिशा में काम कर रहा है। इसे 2023 के अंत या 2024 की शुरुआत में यानी 2 साल में लॉन्च करने का लक्ष्य रखा है। इस तकनीक पर काम कर रहे वैज्ञानिकों और इंजीनियरों को जरूरी अनुमति दे दी गई है।

उन्होंने आगे कहा कि, हम इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। हम भारत में 6जी के लिए अपने स्वयं के दूरसंचार सॉफ्टवेयर और स्वदेशी रूप से निर्मित दूरसंचार उपकरण पर काम कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि 6जी नेटवर्क के लिए डिजाइन किए गए मेड इन इंडिया उत्पादों को भी वैश्विक स्तर पर निर्यात भी किया जाएगा।।

वहीं 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी साल 2022 की दूसरी तिमाही में होने की संभावना है। बता दे कि भारती एयरटेल, रिलायंस जियो और वोडाफोन-आइडिया को देश में 5जी ट्रायल के लिए स्पेक्ट्रम आवंटित किया गया है। इस दौरान Jio और Airtel ने लगभग 1Gbps की अधिकतम 5G स्पीड हासिल की थी। वहीं, वोडाफोन-आइडिया ने 5जी ट्रायल के दौरान 3.5 जीबीपीएस तक की अधिकतम स्पीड हासिल की थी।

Related Articles

Back to top button
Live TV