यूपी ATS ने सहारनपुर से धर दबोचा आतंकी, TTP और JeM से प्रशिक्षण ले कर फिदायीन हमले की कर रहा था तैयारी

उत्तर प्रदेश एटीएस के हाथ एक बड़ी सफलता लगी है। यूपी एटीएस ने सहारनपुर से एक आतंकी को धर दबोचा है। जैश-ए-मुहम्मद और तहरीख-ए-तालिबान से सीधे संम्पर्क सम्पर्क रखने वाले आतंकी मोहम्मद नदीम को यूपी एटीएस ने अपनी गिरफ्त में कर लिया है।

उत्तर प्रदेश एटीएस के हाथ एक बड़ी सफलता लगी है। यूपी एटीएस ने सहारनपुर से एक आतंकी को धर दबोचा है। जैश-ए-मुहम्मद और तहरीख-ए-तालिबान से सीधे संम्पर्क सम्पर्क रखने वाले आतंकी मोहम्मद नदीम को यूपी एटीएस ने अपनी गिरफ्त में कर लिया है। आतंकी ने भारतीय संपर्को की जानकारी भी एटीएस को दी है। आतंकी मोहम्मद नदीम को नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क दिया गया था।

एटीएस द्वारा वर्तमान संवेदनशीलता को देखते हुए लगातार टीमों को अलर्ट रखते हुए रेडिकल तत्वों पर सतर्क दृष्टि रखी जा रही है। यूपी एटीएस को सहयोगी एजेंसियों से सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम-कुंडाकलां, थाना- गंगोह, सहारनपुर में एक व्यक्ति,जैश-ए-मुहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान विचारधारा से प्रभावित होकर फिदायीन हमले की तैयारी कर रहा है।

इस संवेदनशील सूचना पर तत्काल कार्यवाही करते हुए मुहम्मद नदीम की पहचान करते हुए उससे पूछताछ की गयी। मुहम्मद नदीम से पूछताछ पर उसने बताया कि वह 2018 से जैश-ए-मुहम्मद और तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के विभिन्न आतंकवादियों से WhatsApp, Telegram, IMO, Facebook Massenger, Club House आदि सोशल मीडिया माध्यमों से संपर्क में था। उसके पास से प्राप्त मोबाइल फ़ोन से पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के जैश-ए-मुहम्मद व तहरीक-ए-तालिबान के आतंकियों से चैट तथा वॉइस मैसेज भी मिले है।

मुहम्मद नदीम द्वारा इन आतंकवादियों को लगभग 30 से अधिक Virtual Number, Virtual Social Media IDs बनाकर उपलब्ध कराए गए। मुहम्मद नदीम द्वारा बताया गया कि उसे अफगानिस्तान व पकिस्तान में सक्रिय जैश-ए-मुहम्मद एवं तहरीक-ए-तालिबान के आतंकवादी स्पेशल ट्रेनिंग देने के लिए पाकिस्तान बुला रहे थे। जिस पर वह वीज़ा लेकर पाकिस्तान जाता तथा वहां पर जैश-ए-मुहम्मद की आतंकी ट्रेनिंग लेता, साथ ही वह मिस्र देश के माध्यम से सीरिया एवं अफगानिस्तान जाने की भी योजना बना रहा था।

साथ ही तहरीक-ए-तालिबान-ए-पाकिस्तान के आतंकी सैफुल्ला (पाकिस्तानी) द्वारा मुहम्मद नदीम को फिदायीन हमले के लिए तैयार करने के लिए Explosive Course Fidae Force का प्रशिक्षण साहित्य सोशल मीडिया के माध्यम से उपलब्ध कराया गया, जिसको मुहम्मद नदीम ने पढ़ा व इससे सम्बंधित सामग्री को इकठ्ठा करने की फ़िराक में था। जिससे वह किसी सरकारी भवन अथवा पुलिस परिसर पर फिदायीन हमला कर सके।

अभियुक्त मुहम्मद नदीम के द्वारा स्वीकार किया गया कि पाकिस्तान के जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी ने उसको नूपुर शर्मा की हत्या करने का टास्क भी दिया थाl नदीम ने अपने कुछ भारतीय संपर्को की जानकारी भी एटीएस को दी गई है, जिस पर कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गयी है l

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV