UP: किसान सम्मेलन में बोले ए0के0 शर्मा- प्याज-टमाटर में जिन्हें फर्क नहीं मालूम, वो भी कृषि कानून पर बांट रहे ज्ञान

बागपत. भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद शर्मा बागपत के बडौत स्थित पंचमुखी मंदिर में किसान सम्मेलन में पहुँचे। अरविंद शर्मा ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार किसानों के हितों को ध्यान में रखकर कृषि कानून लेकर आई थी। लेकिन आज कृषि कानूनों पर ऐसे लोग सवाल उठा रहे है, ऐसे लोग ज्ञान बांट रहे हैं जो टमाटर और प्याज में अंतर तक नहीं जानते हैं, उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में भी कानून वापस हुए हैं, लेकिन अंतर यह है कि उनकी सरकारों में बंदूकों के बल पर कानून वापस हुए और भाजपा की सरकार में देश के प्रधानमंत्री ने माफी मांगकर कानून वापस लिए हैं।

बागपत. भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष अरविंद शर्मा बागपत के बडौत स्थित पंचमुखी मंदिर में किसान सम्मेलन में पहुँचे। अरविंद शर्मा ने किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार किसानों के हितों को ध्यान में रखकर कृषि कानून लेकर आई थी। लेकिन आज कृषि कानूनों पर ऐसे लोग सवाल उठा रहे है, ऐसे लोग ज्ञान बांट रहे हैं जो टमाटर और प्याज में अंतर तक नहीं जानते हैं, उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में भी कानून वापस हुए हैं, लेकिन अंतर यह है कि उनकी सरकारों में बंदूकों के बल पर कानून वापस हुए और भाजपा की सरकार में देश के प्रधानमंत्री ने माफी मांगकर कानून वापस लिए हैं।

दरअसल बागपत के बड़ौत स्थित पंचमुखी मंदिर में आयोजित किसान सम्मेलन में शिरकत करने पहुँचे थे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि भाजपा की सरकार से पहले भी किसान त्रस्त थे। विपक्ष कहता है कि भाजपा ने किसानों को सबसे ज्यादा से शोषण किया है। यदि ऐसा है तो पिछले 70 साल में पिछली सरकारों ने किसानों के लिए क्या अच्छा कार्य किया? क्यों किसानों की आय दोगुनी नहीं की गई? क्यों किसानों को उनकी फसलों के वाजिब दाम समय पर नहीं दिलाए गए। अब यदि भाजपा सरकार किसानों के लिए कुछ कर रही है तो इतना हंगामा क्यों बरपा रखा है?

अरविंद शर्मा ने कहा कि पिछली सरकार में भी कानून वापस हुए हैं, लेकिन अंतर यह है कि उनकी सरकारों में बंदूकों के बल पर कानून वापस लिए और भाजपा की सरकार में देश के प्रधानमंत्री ने माफी मांगकर कानून वापस लिए। उन्होंने कहा कि किसानों को केवल गुमराह किया जा रहा है। कृषि कानून किसानों के हित में थे। विपक्ष के ऐसे लोग कृषि कानून को लेकर ज्ञान बांट रहे हैं जिन्हें टमाटर और प्याज में अंतर तक मालूम नहीं। उन्होंने कहा कि हाल में किसानों की आय दोगुनी की जाएगी अब किसानों के हित में लाए गए कृषि कानून वापस हो गए हैं। भाजपा किसानों की ही सुनेगी। जो कुछ वे कहेंगे, वही कार्य भी होगा, लेकिन वह विपक्ष और कुछ तथाकथित संगठनों के बहकावे में ना आए।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV