UP : वाराणसी में 3 दिवसीय रथयात्रा मेला हुआ प्रारंभ उमड़े हजारों श्रद्धालू

धर्म की नगरी काशी में आज तीन दिवसीय रथयात्रा मेले की शुरुआत हुई. रथयात्रा मेले का यह 232वां वर्ष है.हालांकि बीते दो साल कोरोना महामारी के कारण भगवान जगन्नाथ ने बहन सुभद्रा और भइया बलभद्र के साथ भक्तों को रथयात्रा मेले में दर्शन नहीं दिए थे.

Desk : धर्म की नगरी काशी में आज तीन दिवसीय रथयात्रा मेले की शुरुआत हुई. रथयात्रा मेले का यह 232वां वर्ष है. हालांकि बीते दो साल में कोरोना महामारी के कारण भगवान जगन्नाथ ने बहन सुभद्रा और भइया बलभद्र के साथ भक्तों को रथयात्रा मेले में दर्शन नहीं दिए थे.

आपको बता दें कि भगवान जगन्नाथ की भव्य आरती हुई, आरती में हजारों की संख्या में पहुंचे श्रद्धालु , भाई बलदेव, बहन सुभद्रा के साथ निकले भगवान जगन्नाथ, वाराणसी के रथयात्रा चौराहे परआयोजन हुआ. स्थिति सामान्य होने पर आज भोर में भाई और बहन के साथ रथ में विराजमान भगवान जगन्नाथ की मंगला आरती हुई जिसके बाद रथयात्रा इलाका जय जगन्नाथ के उद्घोष से गूंज उठा, यात्रा में हज़ारो श्रद्धालुओं ने प्रतिभाग किया. यह सिलसिला कार्तिक मास तक जारी रहेगा.

आपको बता दें कि वर्ष 1790 में बनारस में जगन्नाथ मंदिर की स्थापना हुई थी. यहां पर पुरी के रथयात्रा मेले की तरह काशी में भी इस उत्सव की शुरुआत हुई थी. कोरोना महामारी के दो वर्षों में रथयात्रा मेले की रंगत फिकी पड़ गई थी, अब इस वर्ष फिर से रथयात्रा मेले की रंगत लौटी है.

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV