UP: उन्नाव जीका वायरस का पहला मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप, 3 दिन से आ रहा था बुखार

उन्नाव. उत्तर प्रदेश के उन्नाव से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां कोरोना और डेंगू के बाद अब जीका वायरस का पहला मरीज मिलने से स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। मरीज को कई दिन से बुखार आ रहा था। 3 दिन पहले कानपुर में जांच हुई थी आज स्वास्थ्य विभाग कानपुर के पर्यवेक्षक ने जीका वायरस होने की पुष्टि की है। उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया है, घर के आस-पास दवाओं का छिड़काव भी किया जा रहा है। कहीं ना कहीं स्वास्थ्य महकमे के लिए जीका वायरस जी का जंजाल बन गया है।

गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के मिश्रा कॉलोनी मोहल्ले के रहने वाले राजेश पेशे से मजदूर हैं, कानपुर के लाल बंगला में एक धागा फैक्ट्री में कार्य करते हैं। पिछले 1 सप्ताह पहले उन्हें बुखार और आंखों में जलन जैसी समस्या हुई। उपचार कराया फायदा न होने पर उन्होंने डेंगू और अन्य जांच कराई और घर में दवा खाते रहे। 3 दिन बीत जाने के बाद आज देर शाम स्वास्थ्य विभाग के पर्यवेक्षक प्रदीप दिवाकर को कानपुर स्वास्थ्य विभाग से इनमें जीका वायरस होने की पुष्टि हुई।

जीका वायरस की पुष्टि होने के बाद स्वास्थ्य पर्यवेक्षक बीमार राजेश के घर पहुंचे, उन्हें बेहतर उपचार के लिए उन्नाव जिला अस्पताल एंबुलेंस से लेकर रवाना हुए हैं। वहीं घर में मौजूद अन्य लोगों को आइसोलेट करने की बात कही है, साथ ही एंटी लार्वा समेत अन्य दवाओं का गलियों और घरों के आसपास छिड़काव कराया जा रहा है। सीएमओ डॉक्टर सत्य प्रकाश ने बताया कि मरीज में जीका वायरस होने की पुष्टि हुई है। मरीज कानपुर में मजदूरी करता था, स्वास्थ्य विभाग की ओर से बेहतर उपचार के बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV