Uttar Pradesh: घरवालों ने मृत समझकर कर दिया था जिसका अंतिम संस्कार, 30 साल लौटा घर वापस !

किसी की नियति में क्या लिखा है यह किसी को पता नहीं होता हैं। जिसे जितना परेशान होना रहता है वह होकर ही रहता है। चंदौली जिले की मुगलसराय कोतवाली के लेडुआपुर गांव से एक ऐसा ही मामला सामने आया हैं...

किसी की नियति में क्या लिखा है यह किसी को पता नहीं होता हैं। जिसे जितना परेशान होना रहता है वह होकर ही रहता है। चंदौली जिले की मुगलसराय कोतवाली के लेडुआपुर गांव से एक ऐसा ही मामला सामने आया हैं। यहां के रामकिशुन नाम का एक आदमी जिसे पिछले 30 सालों से बंधक बना कर रखा गया था। जिसके बाद बुधवार को युवक वापस अपने घर आ गया हैं।

कई सालों तक जब रामकिशुन अपने घर वापस नहीं लौटे तो परिवार के लोगों ने उनकी तलाश शुरू की और 15 सालों तक जब नहीं मिले तो मृत समझ कर उनका अंतिम संस्कार कर दिया। लेकिन अब उनके वापस आने पर परिवार के लोगों में ख़ुशी का माहौल हैं। और उनकी हालत देखकर दुखी भी हैं।

रामकिशुन ने बताया की उनसे मजदूरों की तरह काम कराया जाता था। उनकी याददाश्त को भी कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा था। पहले उन्हें मुम्बई में रखा गया फिर बाद में वाराणसी के बाबतपुर में रखा गया था। जब उनकी हालत बिगड़ने लगी और तबियत ख़राब हो गयी तब उन्हें घर जाने के लिए छोड़ दिया गया। जानकारी के मुताबिक उनकी 4 बेटियां हैं। चारो का विवाह हो चुका हैं।

Related Articles

Back to top button
Live TV