क्या कम होंगे पेट्रोल-डीजल के दाम? भारत सरकार ने लिया यह बड़ा फैसला…

भारत सरकार ने मंगलवार को घोषणा की कि अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों को कम करने के लिए अमेरिका, चीन, जापान और अन्य प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के साथ मिलकर अपने आपातकालीन भंडार से 5 मिलियन बैरल कच्चा तेल जारी करेगा। यह पहली बार है कि भारत अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों को कम करने के लिए अपने आपातकालीन भंडार से 5 मिलियन बैरल कच्चा तेल आपूर्ति करने का निर्णय लिया है।

भारत, पूर्वी और पश्चिमी तट पर तीन भूमिगत स्थानों पर 5.33 मिलियन टन या लगभग 38 मिलियन बैरल कच्चे तेल का भंडारण किये हुए था। आमतौर पर कच्चे तेल का यह भंडारण आपातकालीन परिस्थिति में उपयोग में लाने की लिए किया जाता है ऐसे में सरकार का यह निर्णय क्या किसी आपात परिस्थिति की उत्पन्न होने का संकेत है या समय की मांग को देखते हुए ऐसा निर्णय लिया गया है यह कहना अभी थोड़ा मुश्किल है।

सरकार की तरफ से जारी किये गए एक बयान में कहा गया है, “भारत का दृढ़ विश्वास है कि तरल हाइड्रोकार्बन का मूल्य निर्धारण उचित, जिम्मेदार और बाजार की ताकतों द्वारा निर्धारित किया जाना चाहिए। भारत ने तेल उत्पादक देशों द्वारा कृत्रिम रूप से तेल की आपूर्ति को मांग के स्तर से नीचे कृत्रिम रूप से समायोजित किए जाने पर चिंता व्यक्त की है, जिससे कीमतें बढ़ती हैं और नकारात्मक परिणाम सामने आते हैं।”

हालांकि बयान में रिलीज की तारीख नहीं दी गई है। इस मामले की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने कहा कि स्टॉक को 7-10 दिनों में जारी किया जा सकता है। भारत सरकार इस आपातकालीन भंडारण में से करीब 50 लाख बैरल कच्चा तेल इस्तेमाल की लिए निकलेगी।

Related Articles

Back to top button
Live TV