दुनिया : यूक्रेन पर अमेरिका की रूस को चेतवानी! जानिये, रूस परअमेरिका क्यों लगाना कड़े आर्थिक प्रतिबंध?

बाइडेन प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि प्रशासन यूक्रेन में भविष्य में आक्रामक मिसाइलों की संभावित तैनाती को कम करने और पूर्वी यूरोप में अमेरिका और नाटो (NATO) सैन्य अभ्यासों पर प्रतिबंध लगाने पर रूस के साथ चर्चा के लिए तैयार रहेगा।

संयुक्त राज्य अमेरिका में बाइडेन प्रशासन ने शनिवार को रूस को चेतावनी जारी करते हुए बयान दिया कि यदि रूस यूक्रेन पर आक्रमण करने की धमकी के साथ आगे बढ़ता है तो उसे कठोर दंड का सामना करना पड़ सकता है। अमेरिकी अधिकारियों ने यूरोप में अमेरिका की भविष्य की रणनीतिक स्थिति के बारे में निर्णयों में तीव्रगामी बदलाव की संभावना जताई।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर रूस यूक्रेन में हस्तक्षेप करता है तो उसे कई कमजोर करने वाले प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा। बाइडेन प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि प्रशासन यूक्रेन में भविष्य में आक्रामक मिसाइलों की संभावित तैनाती को कम करने और पूर्वी यूरोप में अमेरिका और नाटो (NATO) सैन्य अभ्यासों पर प्रतिबंध लगाने पर रूस के साथ चर्चा के लिए तैयार रहेगा।

उन्होंने बयान में कहा कि रूस को यूक्रेन में हस्तक्षेप करने पर कठोर आर्थिक प्रतिबंधों का भी सामना करना पड़ सकता है। रूसी संस्थाओं पर प्रत्यक्ष प्रतिबंधों के अलावा, अमेरिका से रूस को निर्यात किए जाने वाले उत्पादों और अमेरिकी क्षेत्राधिकार के अधीन संभावित रूप से विदेशी निर्मित उत्पादों पर महत्वपूर्ण प्रतिबंध भी लगाए जा सकते हैं।

बता दें कि लम्बे समय से रूस और यूक्रेन के बीच कई कारणों से तनाव व्याप्त है। रूस अमेरिका से आश्वासन मांग रहा है कि यूक्रेन को नाटो में शामिल ना किया जाए। हालांकि अमेरिका ऐसा कोई आश्वासन देने को तैयार नहीं है। पश्चिमी देशों से प्रतिबंधों में राहत और अन्य रियायतें प्राप्त करने के लिए रूस यूक्रेन की सीमा पर तनाव बढ़ा रहा है। रूस के साथ यूक्रेन के तनाव के बीच अमेरिका और यूरोपीय संघ यूक्रेन को रूसी नियंत्रण से दूर रखने के लिए दृढ़ संकल्पित होते जा रहे हैं।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV