बाबा श्री काशी विश्वनाथ का होगा 3D दर्शन, शुरू ट्रायल

श्री काशी विश्वनाथ धाम परिसर का विस्तार होने के बाद से ही धाम की भव्यता को देखने के लिए लाखो श्रद्धालु बाबा विश्वनाथ के धाम पहुंच रहे है।

Varanasi News: देवधि देव महादेव की नगरी काशी में बाबा श्री काशी विश्वनाथ के दर्शन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु प्रतिदिन दर्शन के लिए पहुंच रहे है। भीषण गर्मी के बावजूद श्रद्धालुओं की संख्या में हो रहे इज़ाफे को लेकर मंदिर प्रशासन श्रद्धालुओं को तमाम सुविधाएं मुहैया करवा रही है। वही विश्वनाथ धाम में दर्शन करने पहुंचने वाले श्रद्धालु जो बाबा विश्वनाथ के आरती में शामिल होने से वंचित हो जाते है, उनके लिए जल्द ही 3डी माध्यम की सुविधा से धाम में होने वाली आरती और ज्योर्तिर्लिंग का दर्शन के साथ धाम परिसर और मां गंगा का दर्शन करवाएगी। इस सुविधा के लिए मंदिर परिसर में निजी कंपनी के द्वारा ट्रायल शुरू कर दिया गया है।

3D से श्रद्धालुओं को दिख रही विश्वनाथ धाम की भव्यता

श्री काशी विश्वनाथ धाम परिसर का विस्तार होने के बाद से ही धाम की भव्यता को देखने के लिए लाखो श्रद्धालु बाबा विश्वनाथ के धाम पहुंच रहे है। ऐसे में अब श्रद्धालु 3डी माध्यम से विश्वनाथ धाम की भव्यता को बेहद ही बारीकी से देख पाएंगे। ट्रायल के तौर पर चल रही सुविधा का लाभ लेने वाले श्रद्धालुओं ने बताए कि 3डी माध्यम से एक स्थान पर बैठ बाबा श्री काशी विश्वनाथ के आरती में शामिल होने और बाबा के दर्शन के अलावा विश्वनाथ धाम की भव्यता को देखने का सौभाग्य मिल रहा है।

इस सुविधा को संचालित करने वाले विश्वजीत ने श्रद्धालुओं की तरफ से मिल रहे रिव्यू को लेकर काफी खुशी जताई है। उन्होंने बताया कि अकसर श्रद्धालु काशी में बाबा विश्वनाथ धाम में होने वाली 5 आरतियों में शामिल नहीं हो पाते है। ऐसे में 3डी माध्यम से श्रद्धालुओं को आरती में शामिल होने का मौका मिल रहा है। इस सुविधा को फिलहाल ट्रायल के तौर पर श्रद्धालुओं को निःशुल्क उपलब्ध करवाया जा रहा है।

वही विश्वनाथ धाम में श्रद्धालुओं के लिए ट्रायल के तौर पर चल रहे 3डी दर्शन को लेकर श्री काशी विश्वनाथ धाम के मुख्य कार्यपालक अधिकारी विश्व भूषण मिश्रा ने बताया कि श्रद्धालुओं को दी जा रही 3डी सुविधा ट्रायल के तौर पर कुछ दिन मंदिर परिसर में चलाया जा रहा है। श्रद्धालुओं के द्वारा आ रहे रिव्यू को नोट किया जा रहा है। यदि श्रद्धालुओं का रिव्यू सही रहा तो कंपनी से अनुबंध कर इस सुविधा को श्रद्धालुओं को आगे भी दिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button