Digital Rupee: आज से देश को मिलेगी डिजिटल करेंसी, कैश रखने की समस्या से मिलेगा छुटकारा, लेन देन के बदलेंगे नियम

आज से जारी होने जा रहे डिजिटल करेंसी का प्रयोग आप ठीक उसी तरीके से कर पाएंगे जैसे आप सामान्य रुपये का करते है. लेकिन इसमे अंतर ये होगा कि आप के पास आपके पैकेट में कोई नोट नही होगी बल्कि ये नोट आपके मोबाईल में वर्चुअल तौर पर उपलब्ध रहेगा.

डिजिटल डेस्क: देश में 1 दिसंबर से कई नियमों में परिवर्तन होने जा रहे है. आज रिजर्व बैंक भारत में पहली बार डिजिटल रुपया लांच करने जा रहा है. इसके लांच होने के बाद से कैश के झंझट से छुटकारा मिलेगा. डिजिटल रुपया कई मायनों में अलग होगा और इसके इस्तेमाल करने का तरीका डिजिटल पोमेंट माध्यम से काफी अलग होगा. हालांकि अभी इसे देश के सिर्फ 4 शहरों में जारी किया जाएगा. जिसको लेकर आरबीआई नें विगत बुधवार को जानकारी दी थी. डिजिटल रुपये से कैश रखने की समस्या दूर होगी.

जिन शहरों में इसकी शुरुआत आज से होने जा रही है उनमें नई दिल्ली, भुवनेश्वर, मुंबई और गुवाहाटी शामिल है. पहले चरण में डिजिटल रुपया को जारी करने के लिए 4 चार बैंकों को चिन्हित किया गया है. इसमे स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंकशामिल हैं.

क्या है डिजिटल करेंसी…

बजट सत्र के दौरान केंद्र सरकार ने इस साल भारत में पहली बार डिजिटल करेंसी लांच करने की बात कही थी. आज से भारत में भी डिजिटल करेंसी लांच की जा रही है. दरअसल डिजिटल करेंसी एक तरीके से मुद्रा ही है. दैनिक जीवन में हम कागज की बने रुएये का प्रयोग करते है लेकिन डिजिटल रुपए के लांच होने के बाद से आप के मोबाईल में ही एक ऐप मिलेगा जिसमें आप डिजिटल करेंसी रख सकेंगे. इनकी भी किमत उतनी ही होगी जितनी कि कैश या कागज वाले रुपए की होती है. सबसे खास बात ये होगी कि आप इसका प्रयोग बिना इंटरनेट के भी कर पाएंगे.

ऐसे इस्तेमाल होगी डिजिटल करेंसी

आज से जारी होने जा रहे डिजिटल करेंसी का प्रयोग आप ठीक उसी तरीके से कर पाएंगे जैसे आप सामान्य रुपये का करते है. लेकिन इसमे अंतर ये होगा कि आप के पास आपके पैकेट में कोई नोट नही होगी बल्कि ये नोट आपके मोबाईल में वर्चुअल तौर पर उपलब्ध रहेगा. आपको करना ये होगा कि आप एक एप इंस्टाल करेंगे जो कि बैंक द्वारा प्रोवाइड कराया जाएगा. इसमे आप अपने कैश को रख पाएंगे.

आप जब भी कुछ खरीददारी करते है तो उस ऐप युक्त वैलेट से पैसे आसानी से भुगतान कर पाएंगे. इसके लिए दुकानदार द्वारा आपको क्यूआर कोड प्रदर्शित किया जाएगा. जिसको स्कैन करने के बाद आसानी से भुगतान कर पाएंगे. हालांकि आपको इसमें रखे हुए अमाउंट के लिए आपको किसी प्रकार का कोई इंटेरेस्ट नही मिलोगा. डिजिटल करेंसी के आने के बास से कैश रखने की झंझट समाप्त हो जाएगी.

आरबीआई ने क्या कहा?

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कल एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए लिखा कि रिज़र्व बैंक ने 01 दिसंबर, 2022 को खुदरा डिजिटल रुपये (e₹-R) के लिए पहला पायलट लॉन्च करने जा रहा है. 31 अक्टूबर, 2022 की एक प्रेस विज्ञप्ति में संकेत दिया था कि ई-आर में पायलट ₹-R एक महीने के समय में शुरू होगा. पायलट भाग लेने वाले ग्राहकों और व्यापारियों के बंद उपयोगकर्ता समूह (सीयूजी) में चुनिंदा स्थानों को कवर करेगा.

Related Articles

Back to top button
Live TV