मध्य प्रदेश : तेजी से फैल रहा कोरोना संक्रमण, छः महीने बाद एक दिन में दर्ज दिए गए अधिकतम 224 मामले

बढ़ते आंकड़े और संक्रमितों की संख्या दूसरी लहर की लहर की तुलना में थोड़ा ही कम हैं। कोरोना मामलों में दूसरी लहर की तुलना में यह अपेक्षित कमी इसलिए है क्योंकि अधिकांश लोगों ने कोरोना का टीका लगवा लिया है। सोमवार को मध्य प्रदेश में कुल 61,744 सैंपल की टेस्टिंग की गई। फिलहाल राज्य में कोरोना की पॉजिटिविटी दर 0.53 फीसद है।

मध्य प्रदेश में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। पिछले 6 महीनों की तुलना में राज्य में एक दिन के अंदर कोरोना के सर्वाधिक 221 सक्रिय मामले दर्ज किये गए हैं। मध्य प्रदेश में सोमवार को एक दिन में सबसे अधिक कोरोना के नए मामले पाए गए। इससे पहले 15 जून 2021 को दूसरी लहर के दौरान एक दिन में अधिकतम 224 मामले पाए गए थे। राज्य में इस तरह से कोरोना मामलों का अचानक से बढ़ जाना प्रशासन के लिए चिंता का सबब बना हुआ है और

Koo App
मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते आँकड़े बेहद चिंताजनक है। एक्टिव मरीज़ों का आँकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है। कई ज़िले इसकी चपेट में आते जा रहे है। सरकार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति को देखते हुए तत्काल सभी आवश्यक इंतज़ाम करने चाहिये, स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा करना चाहिये। कोरोना की दूसरी लहर में सरकार के कुप्रबंधन को प्रदेशवासियो ने खुली आँखो से देखा है….. KamalNath (@officeofknath) 4 Jan 2022

सप्ताह दर सप्ताह मध्य प्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामले इस बात का संकेत दे रहे हैं की राज्य में कोरोना की तीसरी लहर पूरी तरह से दस्तक दे चुकी है। बढ़ते आंकड़े और संक्रमितों की संख्या दूसरी लहर की लहर की तुलना में थोड़ा ही कम हैं। कोरोना मामलों में दूसरी लहर की तुलना में यह अपेक्षित कमी इसलिए है क्योंकि अधिकांश लोगों ने कोरोना का टीका लगवा लिया है। सोमवार को मध्य प्रदेश में कुल 61,744 सैंपल की टेस्टिंग की गई। फिलहाल राज्य में कोरोना की पॉजिटिविटी दर 0.53 फीसद है।

बीते एक सप्ताह में राज्य में कोरोना के कुल 735 नए मामले दर्ज किये गए हैं। इससे पहले के हफ्ते में यह संख्या मात्र 217 थी। राज्य में संक्रमण बढ़ने की यह तीव्र दर पिछले साल अप्रैल के महीनों में दर्ज की गई थी। पिछले साल 4 अप्रैल 2021 को मध्य प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 18,168 थी जो 11 अप्रैल 2021 को बढ़कर 31,294 हो गई थी। वहीं 18 अप्रैल 2021 को यह संख्या 69,935 दर्ज की गई और इसके बाद राज्य में लगातार कोरोना के नए मामलों में कमी देखी गई थी।

ये भी पढ़ें- DDMA का बड़ा फैसला, दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू लगाने का ऐलान…

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV