COP-26 सम्मलेन में भाग लेने ग्लास्गो पहुंचे पीएम मोदी, जलवायु परिवर्तन मुद्दे पर रखेंगे भारत का पक्ष

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोम की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के समापन के बाद रविवार को स्कॉटलैंड के ग्लासगो पहुंचे। बता दें कि पीएम मोदी यहां COP26 सम्मेलन में भाग लेंगे और संयुक्त राष्ट्र (UN) की बैठक के मौके पर अपने समकक्ष ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। कोविड -19 महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी और बोरिस जॉनसन के बीच यह पहली व्यक्तिगत बैठक होगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रोम की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के समापन के बाद रविवार को स्कॉटलैंड के ग्लासगो पहुंचे। पीएम मोदी यहां COP26 सम्मेलन में भाग लेंगे और संयुक्त राष्ट्र (UN) की बैठक के मौके पर अपने समकक्ष ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। कोविड -19 महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी और बोरिस जॉनसन के बीच यह पहली व्यक्तिगत बैठक होगी।

दरअसल, यूके के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इस साल कोविड -19 महामारी के कारण दो बार अपनी भारत यात्रा रद्द किया है। इसलिए प्रधानमंत्री की बोरिस जॉनसन के साथ यह बैठक तमाम मुद्दों को लेकर अहम मानी जा रही है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि कोविड-19 के मुद्दे पर भी दोनों प्रधानमंत्री अपने अनुभव सांझा करेंगे।

ग्लासगो पहुंचकर पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि वे ग्लास्गो पहुंच चुके हैं और यहां आयोजित होने वाले COP26 शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। उन्होंने आगे लिखा कि वे जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर भारत के प्रयासों को स्पष्ट करेंगे और विश्व के अन्य नेताओं के इस मुद्दे पर साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं।

इससे पहले उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा था कि “रोम में G20 शिखर सम्मेलन के बाद ग्लासगो के लिए प्रस्थान। शिखर सम्मेलन के दौरान, हमनें महामारी से लड़ने, स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में सुधार, आर्थिक सहयोग को बढ़ावा देने और नवाचार (इनोवेशन) को आगे बढ़ाने को लेकर कई वैश्विक मुद्दों पर विस्तृत विचार-विमर्श किया।

पीएम के ग्लासगो पहुंचने पर भारतीय प्रवासी प्रतिनिधियों ने उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया और “भारत माता की जय” के नारे लगाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − 6 =

Back to top button
Live TV