उत्तराखंड में ‘द केरला स्टोरी’ जैसी कहानी, छात्रा को अश्लील फोटो से ब्लैकमेल कर धर्मान्तरण का बनाया दबाव

पीड़ित छात्रा के परिजनों का कहना है की कॉलेज में पढ़ने वाली धर्म विशेष से संबंधित छात्रा उनकी बेटी को इस्लाम के प्रति जबरन प्रेरित कर रही थी।

फिल्म केरला स्टोरी आपने अच्छे से देखी होगी जिसमें धर्म विशेष को अपनाने के लिए छात्राओं को प्रताड़ित किया जाता है। राजधानी देहरादून में भी एक इसी तरह के मामले में शिकायत की गई है।

राजधानी देहरादून के एक निजी लॉ कॉलेज में पढ़ने वाली एक छात्रा के परिजनों ने कश्मीर की रहने वाली एक धर्म विशेष से संबंधित छात्रा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़ित छात्रा के परिजनों का कहना है की कॉलेज में पढ़ने वाली धर्म विशेष से संबंधित छात्रा उनकी बेटी को इस्लाम के प्रति जबरन प्रेरित कर रही थी। इस मामले में राजधानी देहरादून के रायपुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गयाहै। उत्तराखंड धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2018 के क्षेत्र 3 और 5 में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत धारा 384 और 506 में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पीड़ित छात्रा ने बताया की आरोपी छात्रा देहरादून के सिद्धार्थ लॉ कॉलेज में उसकेसाथ पढ़ती है। साल 2021 में लॉ कॉलेज में उसने एडमिशन लिया था। 2022 में वह आरोपी छात्रा से काफी घुलमिल गई थी। दोनों में अच्छी दोस्ती थी। दोनों एक दूसरे के घर पर आते जाते रहते थे। इस बीच वह धर्म विशेष के लिए उसे लगातार प्रेरित करती रही। पीड़ित छात्रा ने कहा है कि वह बार-बार उसे धर्म परिवर्तन के लिए कहती थी। बार-बार उसे धर्म विशेष के अमीर लड़के से शादी करने के लिए कहती थी। साथ ही पीड़िता ने आरोपी छात्रा पर ओर भी लड़कियों को बहलाने का आरोप लगाया है।पीड़ित छात्रा के परिजनों का कहना है कि यह घटना कर्म हमने केरला स्टोरी में देखा है और अब जीता जागता मामला सामने आया है ।आरोपी छात्रा के संपर्क में आने से उनकी बेटी के व्यवहार में काफी बदलाव था। आरोपी छात्रा ने पीड़ित छात्रा को धमकाना भी शुरू किया और उसकी प्राइवेट पिक्चर भी लीक करने की धमकी दी। पीड़ित छात्रा की मां का कहना है कि गुड़गांव जेल में बंद गैंगस्टर अंशु यादव से उनकी बेटी को धमकाया भी जा रहा है।

इस मामले पर एसएसपी देहरादून का कहना है कि मुकदमा दर्ज किया गया है अब दोनों ही पक्षों से इस पूरे मामले में जांच की जाएगी। अभी कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। वही उत्तराखंड में ऐसा पहला मामला दर्ज हुआ है । आरोप गंभीर है इसलिए पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है।

इस मामले में आरोपी छात्रा से भी बात करने की कोशिश की गई लेकिन आरोपी छात्रा फिलहाल मामले में बात करने से मना कर दिया है । वही पुलिस जांच में जुट गई है ।

Related Articles

Back to top button