विधानसभा में अनुपूरक बजट पेश, कल होगी चर्चा, जानिए, अनुपूरक बजट के खास बिंदु…

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन वित्तीय वर्ष 2022-23 के अनुपूरक अनुदानों की मांग सदन के समक्ष रखी. प्रस्तावित अनुपूरक मांग ₹ 3378954.67 लाख हैं, जिसमें राजस्व लेखा ₹ 1375684.28 लाख तथा पूंजी लेखा ₹ 2001270.39 लाख है.

उत्तर प्रदेश. विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू हो चूका है. सोमवार को शीतकालीन सत्र के पहले दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में दिवंगत मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि दी. सोमवार को सदन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के तमाम नेताओं ने दिवंगत नेता जी को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की.

शीतकालीन सत्र के पहले दिन विधानसभा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनुपूरक बजट भी पेश किया. ये बजट कुल 33 हजार 700 करोड़ रुपए का रहा. मंगलवार को विधानसभा में अनुपूरक बजट पर चर्चा होगी. सोमवार को अनुपूरक बजट पेश करने को लेकर मुख्यमंत्री आवास पर सुबह कैबिनेट बैठक हुई। जिसमें इस बजट को मंजूरी दे दी गई.

अनुपूरक बजट में फरवरी में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के लिए धन का विशेष प्रबंध होगा. नगर विकास विभाग की स्वच्छ भारत मिशन, अमृत योजना, स्मार्ट सिटी व प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए राज्यांश संबंधी मांगें भी इससे ही पूरी होंगी. अनुपूरक बजट के कुछ प्रमुख बिंदु इस प्रकार हैं…

■ इन्क्यूबेटर्स को बढावा देने तथा स्टार्टअप को संगठित करने हेतु रूपये 1000000000.

■ स्वामी विवेकानन्द युवा सशक्तिकरण योजनान्तर्गत टैबलेट/स्मार्ट फोन के वितरण हेतु रुपये 3000000000

■ उत्तर प्रदेश को 01 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करने के उद्देश्य से ग्लोबल इन्वेस्टर समिट-2023 के आयोजन हेतु रुपये 2965600000

■ स्मार्ट सिटी मिशन हेतु रुपये 8990000000

■ उत्तर प्रदेश में होने वली जी-20 सम्मेलन के बैठकों हेतु रूपये 250000000

■ महाकुम्भ 2025 प्रयागराज के आयोजन हेतु रूपये 5215500000

■ इको-टूरिज्म के विकास हेतु रुपये 200000000

■ आंगनवाड़ी केन्द्रों के अपग्रेडेशन हेतु रूपये 169300000

■ आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण हेतु रूपये 414000000

■ राज्य सड़क निधि के अन्तर्गत सड़को के अनुरक्षण हेतु रूपये 5000000000

■ राज्य सड़क निधि के अन्तर्गत सड़कों का निर्माण सुट्टीकरण हेतु रूपये 10000000000

■ ग्रीन इण्डिया मिशन हेतु रूपये 361900000

■ जनपद लखनऊ स्थित कुकरैल वन क्षेत्र में कुकरैल नाइट सफारी पार्क की स्थापना हेतु रूपये 10000000

■ उत्तर प्रदेश स्टेट डाटा सेन्टर के विस्तारीकरण हेतु रूपये 153200000

■ प्रदेश में निजी निवेशकर्ताओं द्वारा औद्योगिक क्षेत्र औद्योगिक पार्कों एवं औद्योगिक के निर्माण हेतु औद्योगिक विकास प्राधिकरणों को रुपये 80000000000

■ पी. एम. गतिशक्ति योजना के अन्तर्गत संचालित होने वाली योजनाओं के लिए रिवाल्विंग फण्ड की स्थापना हेतु रूपये 2000000000

■ निजी उपभोक्ताओं को दिनांक 01/01/2022 से टैरिफ के आधार पर 50 प्रतिशत की छूट प्रदान किये जाने के फलस्वरूप यूपीपीसीएल को वित्तीय वर्ष 2021-2022 के चतुर्थ त्रैमास एवं वित्तीय वर्ष 2022-233 हेतु रूपये 12500000000

■ मेसर्स एचसीएल आईटी सिटी (लखनऊ) प्राइवेट लिमिटेड को उत्तर प्रदेश सूचना प्रौद्योगिकी एवं स्टार्टअप नीति 2016 के अन्तर्गत व्याज उत्पादन के संवितरण हेतु रुपये 310000000

■ उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति के अन्तर्गत भूमि की प्रचालित दर में प्रदत छूट की प्रतिपूर्ति तथा पात्र इकाईयों को प्रोत्साहन के संवितरण हेतु रुपये 3270269000

■ हरपुर तापीय विद्युत परियोजना की स्थापना हेतु रूपये 1000000000

■ 2000 मेगावॉट पाटमपुर तापीय विद्युत परिवेजना की स्थापना हेतु रुपये 3000000000

■ पनकी परियोजना की स्थापना हेतु रुपये 1000000000

■ क्रीड़ा छात्रावास के आवासीय खिलाड़ियों (बालकों/ बालिकाओ) एवं कीडांगनों / स्टेडियमों / बहुउद्देश्यीय हालों / छात्रावासों एवं भवनों के अनुरक्षण तथा हेतु रूपये 150000000

■ खेलो इण्डिया यूनिवर्सिटी गेम्स के आयोजन हेतु रूपये 200000000 की आवश्यकता ।

■ गन्ना विकास परिषद द्वारा निर्मित सम्पर्क मार्गों को गलत किये जाने एवं कार्य हेतु रूपये 1550000000

■ सहकारी चीनी मिलों के क्षमता विस्तारीकरण व आधुनिकीकरण तंत्र को जेनरेशन संगंज आसवनी की स्थापना एवं जीर्णोद्वार आदि कार्यों हेतु रुपये 200000000

■ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों के लिये उपकरणों का क्रय हेतु रूपये 200000000

■ राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अन्तर्गत संचालित योजनाओं के कार्यान्वयन हेतु रुपये 10044060000

■ मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम के संचालन हेतु रूपये 18200000

■ 10 जनपदों में पायलट प्रोजेक्ट के अन्तर्गत न्यायलय परिसर के निर्माण हेतु रूपये 4000000000

■ उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रानिक्स वाहन विनिर्माण एवं गतिशीलता नीति 2022 के अन्तर्गत इलेक्ट्रिक वाहनों पर सब्सिडी हेतु रुपये 1000000000

■ 1000 नवीन बसों के क्रय हेतु उत्तर प्रदेश राज्य सडक परिवहन निगम में आज विनियोजन हेतु रुपये 2000000000

■ समाजिक वानिकी योजना (जिला योजना) हेतु रुपये 1744200000

■ पौधशाला प्रबंधन योजना हेतु रुपये 450000000

■ प्रदेश के 150 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आई. टी. आई.) के उन्नयन हेतु रूपये 1750000000

■ राष्ट्रीय शिक्षा प्रोत्साहन योजना (एम.ए. पी. एम.) के संचालन हेतु रुपये 80000000

■ प्रदेश के 150 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आई. टी. आई.) के उलगन अन्तर्गत अधुनिक कार्यशालाओं व गोरी कक्षों के निर्माण हेतु रूपये 750000000

■ उत्तर प्रदेश सौर ऊर्जा नीति- 2022 के अन्तर्गत अयोध्या सोलर सिटी के विकास हेतु रुपये 25000000 की आवश्यकता |

■ सौर ऊर्जा नीति 2017 के अन्तर्गत बन्देलखण्ड एवं पूर्वान्चल क्षेत्र में स्थापित ग्रह संयोजित सौर पावर प्लाट में विद्युत निकासी के लिए पारेषण लाइन हेतु 90847000

■ शासकीय प्राथमिक/ उच्च प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षा ग्रहण कर रहे अलाभिक समूह एवं कमजोर वर्ग के कक्षा 1 से 8 के बच्चों की शिक्षा पर आने वाले व्यके निम्ति सहायता हेतु रूपये 1774170000

■ अटल आवासीय विद्यालयों की स्थापना हेतु रूपये 1727800000

■ मुख्यमंत्री विवेकाधीन अनुदान हेतु रूपये 1500000000

■ पिछड़े वर्ग के निर्धन व्यक्तियों की पुत्रियों की शादी हेतु आर्थिक सहायता हेतु रूपये 750000000

■ शारिरिक रूप से दांगों को उनके भरण-पोषण के लिये दिव्यांग पेंशन रूपये 3339348000

■ प्रदेश के 10 जनादों में स्थापित हॉफ के होम / लॉग स्टे होम के संचालन हेतु रुपये 46722000

■ दिव्यांगजन हेतु बाधारहित वातावरण का सृजन ‘सिडा योजनान्तर्गत 20000000

■ सुगम्य भारत अभियान फेज-2 के अन्तर्गत लखनऊ में चिन्हित 68 भवनों को दिव् यांगजन के लिए सुगम्य बनाये जाने के लिए रेलिंग, रैम्प, बाधारहित शौचालय एवं लिफ्टों आदि के निर्माण हेतु रूपये 20000000 की अतिरिक्त गता।

■ समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालयों में स्टाफ नाम के निर्माण हेतु रूपये 20000000 की अतिरिक्त आवश्यकता ।

■ जनपद प्रयागराज में भजन संध्या स्थल के निर्माण हेतु रूपये 1000000

■ जनपद सीतापुर के नैमिषारण्य में वेद विज्ञान केन्द्र की स्थापना हेतु रूपये 50000000

■ भातखण्डे संगीत संस्थान को अनुदान हेतु रूपये 5765000

■ जनपद आजमगढ़ के हरिहरपुर में संगीत महाविद्यालय की स्थापना हेतु रूपये 50000000

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन वित्तीय वर्ष 2022-23 के अनुपूरक अनुदानों की मांग सदन के समक्ष रखी. प्रस्तावित अनुपूरक मांग ₹ 3378954.67 लाख हैं, जिसमें राजस्व लेखा ₹ 1375684.28 लाख तथा पूंजी लेखा ₹ 2001270.39 लाख है.

Related Articles

Back to top button
Live TV