ताइवान मामले में चीन और अमेरिका की बढ़ी तनातनी, हवाई सीमा में घुसे 21 चीनी लड़ाकू विमान

चीन और अमेरिका की तनातनी दुनिया की शान्ती में फिर एक नई बाधा बन कर सामने आ रही है। चीन की धमकी के बीच अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान पहंच गई। दूसरी तरफ नैंसी पेलोसी के ताइवान पहंचते ही चीन ने अपनी हरकतें शुरू कर दी

चीन और अमेरिका की तनातनी दुनिया की शान्ती में फिर एक नई बाधा बन कर सामने आ रही है। चीन की धमकी के बीच अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान पहंच गई। दूसरी तरफ नैंसी पेलोसी के ताइवान पहंचते ही चीन ने अपनी हरकतें शुरू कर दी। चीन के 21 सैन्य विमानों ने ताइवान के वायु रक्षा पहचान क्षेत्र के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में उड़ान भरी।

चीन की धमकी को दरकिनार करते हुए हुए अमेरिकी स्पीकर नैंसी पैलोसी मंगलवार को ताइवान पहुंच गई। उनके ताइवान पहुंचते ही चीन ने ताइवान को टारगेटिड हमलों की धमकी दी। चीन ने ताइवान को सैन्य हमले की धमकी देते हुए अमेरिका से कहा कि वह आग से खेल रहा है और एक घंटे के अन्दर चीन के 21 सैन्य विमानों ने ताइवान के दक्षिण-पश्चिमी हिस्से में उड़ान भरी।

सैन्य विमानों की उड़ान भरने की खबर को ताइवान के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने पुष्टि की है। चीन स्वशासित ताइवान पर अपना हक होने का हमेशा से दावा करता है। पिछले 25 साल में इस स्वतंत्र द्वीप की यात्रा करने वाली पेलोसी अमेरिका की बड़ी नेता हैं। ऐसे में उसे ताइवान में अमेरिकी उपस्थिति नागवार लग रही है। चीन ने गंभीर एतराज जताते हुए कहा कि 1.4 अरब चीनी नागरिकों से शत्रुता मोल लेने का अंजाम अच्छा नहीं होगा।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV