उन्नाव: पुलिस ने मादक तस्करों पर कसा शिकंजा, बरामद किया 84 किलो गांजा…

उन्नाव में लखनऊ कानपुर हाईवे पर अजगैन कोतवाली पुलिस व स्वाट टीम ने मुखबिर की सूचना पर घेराबंदी कर अंतरराज्यीय गांजा तस्कर गिरोह का भांडाफोड़ किया है। तस्करों के पास से पुलिस टीम ने 84 किलो गांजा के अलावा दस हजार की नगदी बरामद की है। तस्कर उड़ीसा राज्य से ट्रेन के रास्ते गांजा कानपुर और लखनऊ लाते थे। जिसके बाद यहां से आसपास के जिलों में विक्रीकर नशे का कारोबार कर रहे थे। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

बुधवार की देर रात उन्नाव की स्वाट टीम को उन्नाव के रास्ते लखनऊ भारी मात्रा में गांजा ले जाने का इनपुट मिला। जिसके बाद स्वाट टीम ने अजगैन कोतवाली पुलिस के साथ देर रात लखनऊ-कानपुर हाईवे पर चेकिंग अभियान शुरू किया। चेकिंग अभियान में एक लोडर में 23 बंडल में छुपा कर ले जाए जा रहे हैं गांजे को पुलिस ने बरामद किया।

इस दौरान वाहन सवार चार लोगों ने भागने की कोशिश की मगर पुलिस की सख्त घेराबंदी के चलते आरोपी अपने मंसूबों में सफल नहीं हो सके। वहीं पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो इनकी निशानदेही पर चार अन्य को दबिश देकर गिरफ्तार किया गया। आरोपी उन्नाव जिले के अलावा प्रयागराज, सुल्तानपुर जिले के शामिल है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार गैंग का सरगना अभी फरार है, जिसकी आरोपियों की निशानदेही पर दबिश दी जा रही है। इसके अलावा सर्विलांस की मदद से उसकी लोकेशन भी ड्रेस की जा रही है। आपको बता दें गांजा तस्कर उड़ीसा से कम दामों पर गांजा खरीद कर उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में सप्लाई करते है। उड़ीसा से ट्रेन के रास्ते गांजा लेकर लखनऊ व कानपुर आते हैं। कानपुर और लखनऊ को सेंट्रल पॉइंट बना रखा है। इन्हीं दो स्थानों से प्रदेश के अलग-अलग जनपदों में गांजे की सप्लाई करते हैं।

उन्नाव पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। एसपी उन्नाव दिनेश त्रिपाठी ने पुलिस लाइन में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले का खुलासा किया है। एसपी ने बताया कि घेराबंदी कर 84 किलो गांजा बरामद किया गया है। इसके अलावा आठ आरोपी भी गिरफ्तार किए गए हैं। बरामद किए गए गांजे की कीमत 10 लाख से अधिक है। आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। वही गिरोह के अन्य सदस्यों के गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV