जल संकट के मुद्दे आतिशी ने लिखी पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी,  21 जून से अनिश्चितकालीन अनशन करेंगी आतिशी

वरिष्ठ आप नेता आतिशी ने कहा कि, दिल्ली में भीषण गर्मी की स्थिति है। इस भीषण गर्मी में दिन का तापमान तो 47-48 डिग्री सेल्सियस पहुँच ही जाता है।

दिल्ली में जल संकट के बीच आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और जल मंत्री आतिशी दिल्ली वालों को उनके हक़ का पानी दिलवाने के लिए 21 जून से अनिश्चितकालीन अनशन करने जा रही है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस विषय पर चिट्ठी भी लिखी है और हरियाणा से पानी न मिलने के मुद्दे पर तुरंत हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है।  

इस बाबत बुधवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस के ज़रिए साझा करते हुए वरिष्ठ आप नेता और दिल्ली कैबिनेट मंत्री आतिशी ने कहा कि, दिल्ली को हरियाणा से यमुना में 613 एमजीडी पानी मिलता है, लेकिन 18 जून को मात्र 513 एमजीडी पानी ही मिला। दिल्ली में इस 100 एमजीडी पानी की कमी से 28 लाख लोग प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि, लोग बूँद-बूँद पानी के लिए तरस रहे है, दिल्लीवालों के कष्ट की हर सीमा पार हो चुकी है। उन्होंने कहा कि, 3 करोड़ की आबादी वाली दिल्ली को मात्र 1050 एमजीडी वही 3 करोड़ की आबादी वाले हरियाणा को 6500 एमजीडी पानी मिलता है।

उन्होंने कहा कि, हमने हर संभव प्रयास किए लेकिन पर्याप्त पानी होने के बावजूद भी हरियाणा दिल्ली को 100 एमजीडी पानी देने को तैयार नहीं है। ऐसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी दिल्ली वालों को उनके हक़ का पानी दिलवाए वरना अब उन्हें मजबूरन अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठना होगा।

आतिशी ने कहा कि, “पानी की कमी से दिल्ली की जनता बहुत कष्ट से गुजर रही है; अब उनका कष्ट देखा नहीं जाता, जब तक दिल्लीवालों को पानी नहीं मिलेगा तब तक अनशन पर बैठी रहूँगी।”

वरिष्ठ आप नेता आतिशी ने कहा कि, दिल्ली में भीषण गर्मी की स्थिति है। इस भीषण गर्मी में दिन का तापमान तो 47-48 डिग्री सेल्सियस पहुँच ही जाता है। रात का तापमान भी 40-41 डिग्री सेल्सियस पहुँच जाता है। ऐसी भीषण गर्मी में हर व्यक्ति की पानी की जरूरत बढ़ जाती है।

उन्होंने कहा कि, आज दिल्ली वालों को ज्यादा मात्रा में पानी की ज़रूरत है। लेकिन जिस समय इस भीषण गर्मी की वजह से दिल्ली वालों को ज्यादा पानी की ज़रूरत है, उस समय दिल्ली में पानी की कमी हो गई है। दिल्ली में पर्याप्त पानी नहीं है, त्राहि-त्राहि मची हुई है और लोग बूँद-बूँद पानी को तरस रहे है।

आतिशी ने कहा कि, दिल्ली में कुल पानी की सप्लाई 1050 एमजीडी है। इसमें से 613 एमजीडी पानी हरियाणा से आता है। लेकिन कल 18 जून को हरियाणा से मात्र 513 एमजीडी पानी आया और दिल्ली को 100 एमजीडी कम पानी मिला। उन्होंने कहा कि, 1 एमजीडी पानी से 28,500 लोगों को पानी की आपूर्ति होती है। ऐसे में दिल्ली में जब हरियाणा से 100 एमजीडी पानी कम मिल रहा है, तो इससे 28 लाख लोग प्रभावित हो रहे है।

आतिशी ने कहा कि, दिल्ली के लोग बहुत परेशान है और उनकी इस परेशानी को दूर करने के लिए हमनें हर संभव प्रयास कर लिया। उन्होंने कहा कि, “मैंने हरियाणा के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा लेकिन हरियाणा ने फिर भी पानी नहीं दिया। मैंने हिमाचल के मुख्यमंत्री से बात की, वो हिमाचल से पानी देने को तैयार है। लेकिन ये पानी भी हरियाणा से होकर आना है और हरियाणा ने इसे देने से मना कर दिया। मैं सुप्रीम कोर्ट गई, और गुहार लगाई कि, दिल्ली को इस 100 एमजीडी पानी की ज़रूरत है और इस कारण 28 लाख लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने भी माना कि दिल्ली में पानी का संकट है लेकिन उसके बाद भी हरियाणा ने दिल्ली को पानी नहीं दिया।”

उन्होंने कहा कि, पानी की कमी को लेकर हमारे विधायक केंद्रीय जल शक्ति मंत्री से भी मिलने गये, लेकिन वो हमारे विधायकों से नहीं मिले। कल दिल्ली सरकार के उच्चाधिकारी हरियाणा सरकार के अफसरों से मिलने गये, दिल्ली के 28 लाख लोगों के लिए पानी माँगने गये लेकिन हरियाणा सरकार ने पानी देने से इनकार कर दिया।

आतिशी ने कहा कि, दिल्ली में 3 करोड़ लोग रहते है लेकिन दिल्ली को 1050 एमजीडी पानी मिलता है। उन्होंने कहा कि, हरियाणा में भी 3 करोड़ लोग रहते है लेकिन हरियाणा को 6500 एमजीडी पानी मिलता है। तो ऐसे में हरियाणा को दिल्ली को 100 एमजीडी पानी देना भी पड़े तो वो उसके कुल पानी का मात्र 1.5% होगा। फिर भी हर संभव कोशिश के बाद हरियाणा सरकार दिल्ली को पानी नहीं दे रही है।

उन्होंने कहा कि, अब दिल्ली वालों का कष्ट हदें पार कर चुका है। दिल्ली वाले बूँद-बूँद पानी के लिए तरस गए है। 28 लाख लोगों तक पानी नहीं पहुंच रहा है। वो घंटों पानी का, टैंकर का इंतज़ार कर रहे है और कम से कम पानी में गुजारा कर रहे है। लेकिन फिर भी हरियाणा सरकार दिल्ली को पानी नहीं दे रही है।

आतिशी ने साझा किया कि, इस मुद्दे पर उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर निवेदन किया है कि, वो दिल्ली के लोगों को पानी दिलवाए क्योंकि अब दिल्ली वालों का कष्ट हर सीमा पार कर रहा है और 28 लाख लोगों तक पानी नहीं पहुँचा है। ऐसे में प्रधानमंत्री जी को किसी भी प्रकार से दिल्ली को पानी दिलवाना होगा।

उन्होंने कहा कि, “अगर दिल्लीवालों को अपने हक़ का पानी नहीं मिलता है। ये 100 एमजीडी पानी नहीं मिलता और 28 लाख लोग इसी तरह बूँद-बूँद पानी के लिए तरसते रहे तो 21 जून से मुझे मजबूरन जल सत्याग्रह शुरू करना पड़ेगा। और मैं 21 जून से तब तक अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठूँगी जबतक दिल्ली वालों को पानी नहीं मिल जाता है।”

आतिशी ने कहा कि, अनशन पर बैठने से शरीर को बहुत कष्ट होता है लेकिन इस समय दिल्ली वालों का कष्ट इतना ज़्यादा है कि उसके सामने मेरे शरीर का कष्ट कुछ भी नहीं होगा। ऐसे में मेरी प्रधानमंत्री जी से फिर से निवेदन है कि, वो अगले 2 दिन में दिल्ली वालों को उनके हक का पानी दिलवाए।

Related Articles

Back to top button