आजमगढ़ : प्रेमी संग मिलकर बहू ने सास-ससुर को उतारा था मौत के घाट, पति की भी हत्या की थी साजिश, पुलिस ने ऐसे किया खुलासा….

आजमगढ़ जिले के पित्थौरपुर गांव में करीब दो सप्ताह पूर्व हुई लेखपाल और उनकी पत्नी की दोहरे हत्याकांड का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए पुलिस ने लेखपाल की बहु समेत सात आरोपियों को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त बांका, राड व बाइक बरामद किया। पुलिस ने दावा किया कि गिरफ्तार बहु ने सास, ससुर और पति की हत्या की साजिश रची थी। सास-ससुर की हत्या के बाद मृतक आश्रित में नौकरी मिलने पर वह अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की भी हत्या कर देती। मुख्य आरोपी बहु के फरार प्रेमी पर पुलिस ने 25 हजार का इनाम भी घोषित किया है।

तरवां थाना क्षेत्र पित्थौरपुर गांव में 28 नवम्बर की देर रात लेखपाल रामनगीना राम और उनकी पत्नी मंशा देवी की सोते समय हत्या कर दी गयी थी। दोहरे हत्याकांड के बाद पुलिस की चार टीमें आरोपियों की तलाश में जुटी थी। छानबीन में यह बात प्रकाश में आयी कि लेखपाल की बहू ज्योति अपने प्रेमी पंकज यादव के साथ मिलकर नौकरी व धन के लालच में अपने सास, ससुर व पति की हत्या की साजिश रची थी। साजिश के तहत ज्योति पहले अपने सास-सुसर की हत्या कर अपने पति को मृतक आश्रित मे नौकरी दिलाना चाहती थी और पति को नौकरी मिलने के बाद वह अपने पति की हत्या कर अपने प्रेमी पंकज यादव के साथ रहना चाहती थी।

इसके तहत प्रेमी पंकज यादव अपने दोस्त जेपी मलिक के साथ 28 नवम्बर की रात को शराब पीने के बाद पित्थौरपुर गांव पहुंचे यहां उन्होने लेखपाल और उनकी पत्नी की बांके और राड के प्रहार से हत्या कर फरार हो गये। हत्या में प्रयुक्त धारदार हथियार को सिंहपुर नहर के झांडियों में फेकर फरार हो गये। पुलिस ने छानबीन के बाद सिंहपुर नहर से आरोपी जेके मलिक निवासी हमीरपुर सैदवारा, गोलू उर्फ सर्वेश यादव निवासी रानी की सराय को गिरफ्तार कर लिया। इनकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने पांच शरणदाताओं अखिलेश यादव, सिन्टू यादव निवासीगण गेलवारा, धर्मेन्द्र यादव निवासी रूपाली कालोनी कंधरापुर और रमाकांत यादव निवासी कोठिया को गिरफ्तार कर लिया। जबकि मुख्य आरोपी व ज्योति का प्रेमी पंकज यादव निवासी कोठिया रानी की सराय फरार है। पुलिस ने उसके उपर 25 हजार का इनाम घोषित किया है।

पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने बताया कि दोहरे हत्याकांड में मृतक लेखपाल की बहू ने ही हत्या की साजिश रची थी। साजिश के तहत वह पहले अपने सास,ससुर की हत्या करने के बाद मृतक आश्रित में पति को नौकरी मिलने के बाद वह अपने पति की भी हत्या करने की योजना बनाई थी। पुलिस ने इस घटना में मुख्य आरोपी ज्योति सहित सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि फरार मुख्य आरोपी पंकज यादव पर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया है। इस घटना में जांच अभी जारी है जांच के बाद जो भी लोग दोषी पाये जायेगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। उन्होने घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम को 15 हजार रूपये पुरस्कार देने की घोषणा की।

SHARE

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

fifteen + eleven =

Back to top button
Live TV