बागपत: मिल कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन 19वें दिन हुआ उग्र, मिल प्रबंधन के खिलाफ की जमकर नारेबाजी

बागपत: मलकपुर चीनी मिल चल रहा कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन 19वें दिन उस समय और उग्र हो गया जब चीनी मिल प्रबंंधन ने मिल का मुख्य दरवाजा बंद करते हुए कर्मचारियों को चीनी मिल में घुसने से ही रोक दिया। आक्रोशित कर्मचारियों ने चीनी मिल के बाद प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए चेतावनी दी कि मांगें पूरी होने तक वे काम नहीं करेंगे।

विपिन सोलंकी, संवादाता बागपत

बागपत: मलकपुर चीनी मिल चल रहा कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन 19वें दिन उस समय और उग्र हो गया जब चीनी मिल प्रबंंधन ने मिल का मुख्य दरवाजा बंद करते हुए कर्मचारियों को चीनी मिल में घुसने से ही रोक दिया। आक्रोशित कर्मचारियों ने चीनी मिल के बाद प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए चेतावनी दी कि मांगें पूरी होने तक वे काम नहीं करेंगे। कर्मचारियों ने मिल के गेट पर ही भट्ठी चढ़ा दी है। तनाव को देखते हुए मिल में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

चीनी मिल मलकपुर में 13 अक्टूबर से 400 से ज्यादा कर्मचारी हड़ताल पर है जिससे चीनी मिल में मरम्मत का काम बंद पड़ा हुआ है। कर्मचारी चीनी मिल में ही हर रोज धरने पर बैठते हैं। कर्मचारियों की मांग है कि उन्हें वेतन, वेतन वृद्धि एरियर के साथ दिया जाएा, पिछले साथ कर्मचारियों पर दर्ज मुकदमे वापस लिए जाए, बर्खास्त चार कर्मचारियों को बहाल किया जाए, तभी वे हड़ताल समाप्त कर काम पर लौटेंगे। चीनी मिल ने दबाव बनाने के लिए चार कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त कर दी है। आज कर्मचारी चीनी मिल में धरना देने के लिए गए तो चीनी मिल प्रबंधन ने मिल का मुख्य दरवाजा बंद करवा दिया और गार्ड तैनात करते हुए पुलिस को बुला लिया। आक्रोशित चीनी मिल कर्मचारियों ने चीनी मिल के बाहर प्रबंधन के खिलाफ हंगामा करते हुए जमकर नारेबाजी की। चेतावनी देते हुए कहा कि चीनी मिल प्रबंधन की तानाशाही के सामने कर्मचारी झुकने वाले नहीं है।

Related Articles

Back to top button
Live TV