भाई देश के लिए हुआ कुर्बान तो सीआरपीएफ के दर्जनों भाई पहुंच गए बहन की डोली उठाने

रायबरेली में एक शादी चर्चा का विषय बनी है। यह शादी थी उस बहन की जिसका भाई देश के लिये कुर्बान हुआ था। इस बहन ने एक भाई खोया तो उसकी शादी में दर्जनों भाई पहुंच गए डोली उठाने। यह भाई कोई और नहीं बल्कि सीआरपीएफ के वर्दीधारी जवान थे। बीती रात यहां के प्लीजेंट व्यू मैरिज हाल में सम्पन्न हुई शादी ज्योति की थी। ज्योति के भाई शैलेन्द्र प्रताप सिंह सीआरपीएफ के जवान थे।

बीते 5 अक्टूबर 2020 को जम्मू में एक आतंकी हमले के दौरान शैलेन्द्र वीरगति को प्राप्त हुए थे। शहादत के साल भर बाद शहीद शैलेन्द्र की बहन ज्योति की शादी थी। इस शादी में शहीद के साथी जवानों को आमंत्रित किया गया था। इन जवानों ने यहां वर्दी पहन कर शिरकत की और भाई के सारे फ़र्ज़ अंजाम दिए।

शहीद के पिता बेटे की शहादत को याद कर भले रो देते हों लेकिन बेटी की शादी में वर्दीधारी जवानों की मौजूदगी उन्हें गौरान्वित कर गई।कहते हैं साथी जवानों ने आश्वासन दिया कि हम हर पल आपके साथ हैं।जवानों के वह जुमले भी शहीद के पिता बार बार दोहराते हैं जब उन्होंने कहा था देखिये एक बेटे के बदले हम सब आपके बेटे हैं।जवानों ने केवल शहीद की बहन को अपनी बहन की तरह विदा किया बल्कि वर वधु को सोने की अंगूठी जैसा कीमती तोहफा भी सौंपा।

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV