प्रबुद्धजन सम्मेलन को CM योगी ने किया संबोधित, कहा- प्रयागराज का पुराना गौरव लौट रहा है…

सीएम ने कहा कि आज उसी का परिणाम है कि 1295 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात देकर के आज ये मंच फिर से प्रयागराज के पास आया है. इस प्रयागराज के लिए जो कुछ भी किया जाए बहुत कम ही है. क्योंकि मां गंगा और मां यमुना, मां सरस्वती का आशीर्वाद द्वादश माधव का आशीर्वाद और स्वयं तार्थराज प्रयाग का आशीर्वाद जो है. दुनिया की पहली गुरुकुल महर्षि भारद्वाज की इसी प्रयागराज में स्थित थी.

गुरूवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रयागराज पहुंचें. जहां उन्होंने प्रबुद्धजन सम्मेलन में शिरकत की. सीएम योगी ने प्रयागराज को 1,295 करोड़ रूपए की लागत वाली 284 विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया. प्रयागराज में आयोजित प्रबुद्धजन सम्मेलन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपना संबोधन दिया और कई बड़ी बातें कहीं.

सीएम योगी ने अपने संबोधन के दौरान अपने सभी सहयोगी मंत्रियों, प्रयागराज के जनप्रतिनिधियों और कार्यक्रम में उपस्थित सभी प्रबुद्धजनों को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में अक्टूबर दो हजार अठारह में, प्रयागराज कुंभ के ठीक पहले प्रयागराज को उसका पुरातन नाम, पौराणिक नाम, प्रदान करने का गौरव हमें प्राप्त हुआ.

उन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत के लिए प्रयागराज के लोगों का आभार जताया. उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में आपने प्रयागराज से भारतीय जनता पार्टी को अपना जो समर्थन दिया, आज उसके परिणामस्वरूप डबल इंजन की सरकार प्रदेश के अंदर फिर से कार्य कर रही है.

सीएम ने कहा कि आज उसी का परिणाम है कि 1295 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात देकर के आज ये मंच फिर से प्रयागराज के पास आया है. इस प्रयागराज के लिए जो कुछ भी किया जाए बहुत कम ही है. क्योंकि मां गंगा और मां यमुना, मां सरस्वती का आशीर्वाद द्वादश माधव का आशीर्वाद और स्वयं तार्थराज प्रयाग का आशीर्वाद जो है. दुनिया की पहली गुरुकुल महर्षि भारद्वाज की इसी प्रयागराज में स्थित थी.

सीएम योगी ने कहा कि पीएम मोदी ने आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में मुख्य महोत्सव को संबोधित करते हुए पंचप्राण की बात की थी. और पंचप्राण में उन्होंने इस बात को संकल्प लिया था विकसित भारत का, दूसरा विरासत के सम्मान का, तीसरा गुलामी के समस्त श्रोतों को समाप्त करने का, चौथा एकता-एकीकरण का और पांचवा नागरिकों के कर्तव्य का, विरासत का सम्मान, अयोध्या में भगवान श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण का कार्य हो या काशी में काशी- विश्वनाथ कोरिडोर का, ये सभी उसी परम्परा का हिस्सा है.

सीएम ने कही कि हम अमृत योजना के अंतर्गत शहरी क्षेत्र में जो भी परिवार बचे हुए हैं, उन लोगों को शुद्ध पेयजल के साथ जोड़ने का कार्य कर रहे हैं. उन्होंने कहा, हमारी सरकार आम जनमानस की सुविधा के लिए पूरी तत्परता के साथ कार्य कर रही है. डबल इंजन की सरकार हर गरीब को आवास की सुविधा, शौचालय की सुविधा, विद्युत कनेक्शन की सुविधा, हर गरीब को उज्ज्वला योजना की सुविधा बहुत सुगमता से प्रदान करके उनके जीवन स्तर को उंचा उठाने का काम कर रही है.

Related Articles

Back to top button
Live TV