मैराथन की विजेता बेटियों को कांग्रेस ने किया सम्मानित, बेटियां बोली-मैं तो चाहती हूं यूपी में कांग्रेस की ही सरकार बने

लखनऊ : कांग्रेस पार्टी की तरफ से 28 दिसंबर को इकाना स्टेडियम में आयोजित की गई मैराथन की विजेता बेटियों को बुधवार को कांग्रेस मुख्यालय पर सम्मानित किया गया. कई बेटियों को स्मार्टफोन तो कई को फिटनेस बैंड और मेडल देकर सम्मान दिया गया. इस मौके पर विजेता बेटियों ने बुलंद आवाज में ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं’ का नारा भी बुलंद किया. कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष सतीश अजमानी और कांग्रेस सेवादल के मुख्य संगठक प्रमोद पाण्डेय की उपस्थिति में सभी विजेताओं को स्मार्टफोन, फिटनेस बैंड के साथ मेडल वितरित किए गए. बता दें कि मैराथन जीतने वाली तीन बेटियों को इलेक्ट्रिक स्कूटी, 25 बेटियों को स्मार्टफोन, 100 बेटियों को फिटनेस बैंड और 1000 बेटियों को मेडल प्रदान किए गए.

मैं तो चाहती हूं यूपी में कांग्रेस की ही सरकार बने

मैराथन प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर स्मार्टफोन जीतने वाली लखनऊ की बेटी संजू यादव गदगद हैं. इस तरह के आयोजन के लिए संजू पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी का आभार व्यक्त करती हैं. संजू का कहना है कि इकाना स्टेडियम में आयोजित मैराथन में मैंने हिस्सा लिया था और जीतने पर मुझे स्मार्टफोन कांग्रेस पार्टी की तरफ से उपहार में मिला है. प्रियंका गांधी का यह बहुत अच्छा प्रयास है. मेरी तरह तमाम और बेटियां भी इनाम पाई हैं. मुझे तो यही कहना है कि अब उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की ही सरकार बने, क्योंकि जब वह अभी यह कर रही हैं तो सरकार बनने पर और अच्छा करेंगी.

अब मुझे नहीं होगी टाइम देखने की समस्या

हॉकी खिलाड़ी पितांबरी ने भी कांग्रेस पार्टी की तरफ से आयोजित मैराथन में हिस्सा लिया था और उन्होंने भी इस दौड़ में फिटनेस बैंड जीतने में सफलता पाई. बुधवार को कांग्रेस मुख्यालय पर पुरस्कार के तौर पर फिटनेस बैंड लेने पहुंची पीतांबरी काफी खुश हैं. उनका कहना है कि मैं जब कहीं जाती हूं या दौड़ लगाती हूं तो मेरे हाथ में घड़ी नहीं होती थी जिससे टाइम देखने को नहीं मिलता था. अब मुझे मैराथन में जीतने के बाद यह बहुत अच्छा फिटनेस बैंड मिल गया है. प्रियंका गांधी का यह कदम बहुत सराहनीय है बहुत अच्छा लग रहा है.

मैराथन में भाग लेकर फिटनेस बैंड जीतने वाली पूर्णिमा काफी प्रसन्न हैं. पूर्णिमा का कहना है कि मैंने मैराथन में हिस्सा लिया और अंडर 100 में शामिल हुई जिसके बाद मुझे फिटनेस बैंड मिला है. मैं प्रियंका गांधी का दिल से धन्यवाद करती हूं. उन्होंने बेटियों को आगे बढ़ने का मौका दिया है. उन्होंने किसी भी उम्र और जाति का बंधन इस मैराथन में नहीं रखा. मैं अभी सरकारी नौकरी की तैयारी कर रही हूं. पुलिस में भर्ती होना है. मेरे पिताजी नहीं है इसलिए पढ़ाई के साथ-साथ नौकरी भी कर रही हूं. मुझे पूरी उम्मीद है कि जिस तरह से प्रियंका गांधी बेटियों को आगे बढ़ा रही हैं वह हमें और भी मौका देंगी, फिर बनना या न बनना हमारे हाथ में है.

SHARE

Related Articles

Back to top button
Live TV