होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड ने सत्र 2018-19 के परीक्षा परिणाम अब तक नहीं किए घोषित, छात्र परेशान…

होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड ने अब तक DHP सत्र 2018-19 का परिणाम ही नहीं घोषित किया है. ऐसे में होम्योपैथिक चिकित्सा के छात्रों का मनोबल भी जवाब दे रहा है. छात्र परेशान हैं. सत्र 2018-19 का रिजल्ट जारी कराने को लेकर छात्र-छात्राएं होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन बोर्ड है कि उसे कोई फर्क ही नहीं पड़ रहा.

होम्योपैथिक चिकित्सा आज भले ही अपने अस्तित्व की लड़ाई क्यों ना लड़ रही हो, लेकिन चिकित्सा के इस क्षेत्र में आज भी छात्र महारथ हांसिल करने के लिए बड़ी संख्या में इसकी पढ़ाई करते हैं. ताजा मामला डिप्लोमा इन होमियोपैथिक फार्मेसी (DHP) के छात्रों को लेकर सामने आया है, जिनके सत्र 2018-19 के परीक्षा परिणामों की अब तक घोषणा नही हुई है.

होम्योपैथिक चिकित्सा को लेकर कहीं अब तक परीक्षा ही नहीं हुई है और अगर कहीं सत्र की परीक्षाएं हुई भी हैं तो उसका परिणाम अब तक घोषित नहीं हुआ है. ऐसे में डिप्लोमा इन होमियोपैथिक फार्मेसी के छात्रों का भविष्य दांव पर लगा हुआ है. दरअसल, होम्योपैथिक चिकित्सा से जुड़े पठन-पाठन संबंधी सभी कामों के देखरेख का जिम्मा होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड का है, लेकिन ऐसा लगता है मानों बोर्ड को छात्रों की कोई चिंता ही नहीं है.

होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड ने अब तक DHP सत्र 2018-19 का परिणाम ही नहीं घोषित किया है. ऐसे में होम्योपैथिक चिकित्सा के छात्रों का मनोबल भी जवाब दे रहा है. छात्र परेशान हैं. सत्र 2018-19 का रिजल्ट जारी कराने को लेकर छात्र-छात्राएं होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड के चक्कर लगा रहे हैं लेकिन बोर्ड है कि उसे कोई फर्क ही नहीं पड़ रहा.

DHP छात्र-छात्राओं ने होम्योपैथिक मेडिसिन बोर्ड को अलग-अलग माध्यमों से कई बार पत्राचार किया लेकिन अब तक सत्र 2018-19 के परीक्षा परिणामों को लेकर बोर्ड के तरफ से कोई संतोषजनक आश्वासन या निस्तारण नहीं दिया गया है. छात्रों की बोर्ड से यही अपील है कि DHP सत्र 2018-19 के उनके परीक्षा परिणामों को जल्द घोषित करे जिससे वो अपने अग्रिम सत्र की पढ़ाई पर पूरे मन से ध्यान दे सकें.

Related Articles

Back to top button